इंग्लैंड को वर्ल्ड चैंपियन बनाने वाले बेन स्टोक्स ने कहा, वह फिर कभी नहीं बनना चाहते सुपर ओवर का हिस्सा 

क्रिकेट
Updated Jul 17, 2019 | 22:23 IST | टाइम्स नाउ डिजिटल

इंग्लैंड को पहली बार विश्व चैंपियन का खिताब जिताने वाले ऑलराउंडर बेन स्टोक्स ने सुपर ओवर को लेकर बड़ा बयान दिया है।

Ben Stokes
बेन स्टोक्स   |  तस्वीर साभार: AP
मुख्य बातें
  • फाइनल में खेली थी नाबाद 84 रन की पारी
  • सुपर ओवर में जोस बटलर के साथ बनाए थे 15 रन
  • फाइनल में चुने गए मैन ऑफ द मैच

लंदन: इंग्लैंड को पहली बार वनडे क्रिकेट में विश्व चैंपियन का ताज दिलाने वाले ऑलराउंडर बेन स्टोक्स ने कहा है कि वो फिर कभी सुपर ओवर का हिस्सा नहीं बनना चाहते हैं। रविवार को खेले गए 12वें विश्व कप के फाइनल में न्यूजीलैंड की टीम ने टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करते हुए निर्धारित 50 ओवर में 8 विकेट पर 241 रन का स्कोर खड़ा किया। इसके बाद जीत के लिए लक्ष्य का पीछा करने उतरी मेजबान इंग्लैंड 50 ओवर में 241 रन बनाकर ढेर हो गई और मुकाबला टाई हो गया। ऐसे में खिताबी जीत के निर्णय के लिए सुपर ओवर का रुख करना पड़ा जहां पहले बल्लेबाजी करते हुए इंग्लैंड ने 15 रन का स्कोर खड़ा किया। इसके जवाब में बल्लेबाजी करने उतरी कीवी टीम भी 6 गेंद में 15 रन बना सकी और सुपर ओवर भी टाई हो गया। ऐसे में मैच में ज्यादा बाउंड्री जड़ने वाली इंग्लैंड को नया विश्व चैंपियन घोषित किया गया। 

स्टोक्स ने मैच में रनों का पीछा करते हुए 84 रन की नाबाद पारी खेली थी। इसके बाद वो सुपर ओवर में भी जोस बटलर के साथ बल्लेबाजी करने आए। ऐसे में दोनों ने सुपर ओवर में 15 रन जोड़े थे। इंग्लैंड की खिताबी जीत के बाद स्टोक्स को उनकी शानदार बल्लेबाजी के लिए मैन ऑफ द मैच चुना गया। ऐसे में अब स्टोक्स ने खुलासा किया है कि वो सुपर ओवर में बल्लेबाजी के लिए नहीं जाना चाहते थे। कप्तान इयान मोर्गन के कहने पर उन्होंने ऐसा किया। स्टोक्स ने कहा, 'मैंने कहा था कि हमें जोस बटलर और जेसन रॉय को भेजना चाहिए लेकिन मोर्गन ने कहा कि हमें दाएं और बाएं का संयोजन बनाना है इसलिए मुझे भेजा गया।' लेकिन अब मैं दोबारा सुपर ओवर का कभी हिस्सा नहीं बनना चाहता।'

स्टोक्स ने पूरे विश्व कप  के दौरान अपनी टीम के लिए अच्छा प्रदर्शन किया। उन्होंने 11 मैच की 10 पारियों में 66.42 की औसत और 93.18 के स्ट्राइक रेट से 465 रन बनाए। इस दौरान उनके बल्ले से पांच अर्धशतक निकले और उनका सर्वाधिक स्कोर 89 रन रहा। सबसे ज्यादा रन बनाने वाले खिलाड़ियों में वो नौवें स्थान पर रहे। उन्होंने गेंदबाजी में भी शानदार प्रदर्शन किया और 11 मैच में 35.14 की औसत और 4.83 की इकोनॉमी के साथ 7 विकेट भी लिए। उनका सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन 23 रन देकर 3 विकेट रहा। 

स्टोक्स ने ये भी बताया कि टीम के जीत हासिल करने के बाद वो रोने लगे थे। उन्होंने कहा, मैं मैदान पर गिर गया था। मैंने मार्क वुड के चश्मे पहने थे। मुझे लगा कि मैंने उन्हें तोड़ दिया है।'

क्रिकेट/खेल की खबरें SPORTS/ CRICKET NEWS IN HINDI पर पढ़ें,  देश भर की अन्य खबरों के ल‍िए बने रह‍िए TIMES NOW HINDI के साथ। देश और दुन‍िया की सभी खबरों की ताजा अपडेट के ल‍िए जुड़िए हमारे FACEBOOK पेज से।


 

Cricket News (क्रिकेट न्यूज़) Times now के हिंदी न्यूज़ वेबसाइट -Times Now Navbharat पर। और साथ ही IPL News in Hindi (आईपीएल न्यूज़) के अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें।

Times Now Navbharat
Times now
zoom Live
ET Now
ET Now Swadesh
Live TV
अगली खबर