वीरेंद्र सहवाग ने खुद को ही कर डाला ट्रोल, इंग्लैंड में हुए इस टेस्ट मैच को कभी नहीं करना चाहेंगे याद

क्रिकेट
Updated Aug 12, 2019 | 18:00 IST | टाइम्स नाउ डिजिटल

पूर्व भारतीय सलामी बल्लेबाज वीरेंद्र सहवाग ट्विटर पर काफी सक्रिय रहते हैं और अब उन्होंने 2011 में आज के दिन हुई एक घटना को याद करते हुए ट्वीट किया है।

Virender Sehwag
वीरेंद्र सहवाग (फाइल फोटो)  |  तस्वीर साभार: AP

मुख्य बातें

  • वीरेंद्र सहवाग अक्सर अपने ट्वीट्स के कारण चर्चा में रहते हैं
  • सहवाग ने एक टेस्ट मैच से जुड़ी बुरी यादों को लेकर ट्वीट किया है
  • उस टेस्ट में वीरू दोनों पारियों में शून्य पर आउट हो गए थे

नई दिल्ली : पूर्व भारतीय सलामी बल्लेबाज वीरेंद्र सहवाग ट्विटर पर काफी सक्रिय रहते हैं और अब उन्होंने 2011 में आज के दिन हुई एक घटना को याद करते हुए ट्वीट किया है। इस घटना को बयान करते हुए, सहवाग ने खुलासा किया कि कैसे उन्होंने इंग्लैंड के खिलाफ टेस्ट मैच में ना चाहते हुए भी आर्यभट्ट को श्रद्धांजलि दी। हालांकि, सहवाग ने ये ट्वीट मजाकिया अंदाज में किया।

सहवाग ने पुरानी यादों को ताजा करते हुए कहा कि 2011 में भारत के इंग्लैंड दौरे के तीसरे टेस्ट में वो दोनों पारियों में बिना खाता खोले ही आउट हो गए थे। पहली पारी में स्टुअर्ट ब्रॉड ने और दूसरी पारी में तेज गेंदबाज जेम्स एंडरसन ने वीरू को गोल्डन डक पर पवेलियन भेज दिया था। पूर्व सलामी बल्लेबाज ने अपने ट्वीट में एक दिलचस्प किस्सा भी साझा किया।

सहवाग ने अपने आधिकारिक ट्विटर अकाउंट से ट्वीट करते हुए लिखा, 'इस दिन 8 साल पहले, मैंने बर्मिंघम में दोनों पारियों में शून्य बनाया था। मैं 2 दिनों के हवाई सफर के बाद इंग्लैंड पहुंचा था और 188 ओवरों तक क्षेत्ररक्षण करने के बाद, जब बल्लेबाजी की बारी आई, तो ना चाहते हुए भी मैंने आर्यभट्ट को श्रद्धांजलि अर्पित की। यदि उस दौरान असफलता की कोई उम्मीद नहीं थी, तो आप क्या करेंगे?'

उस टेस्ट मैच में भारत को एक पारी और 242 रनों से करारी हार का सामना करना पड़ा था। इंग्लैंड के सलामी बल्लेबाज एलिस्टर कुक ने 545 गेंदों में 294 रनों की मैराथन पारी खेलते हुए इंग्लैंड को पहली पारी में 710 के पहाड़नुमा स्कोर तक पहुंचाया था। भारतीय टीम पहली पारी में सिर्फ 224 रनों पर ढेर हो गई थी और उसके बाद एक बार फिर भारत की दूसरी पारी की शुरुआत खराब रही और मेहमान टीम मात्र 244 पर ढेर हो गई और मेजबान टीम ने आराम से मैच जीत लिया।

40 वर्षीय सहवाग ने करियर का आखिरी टेस्ट मैच 2013 में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ खेला था। दिल्ली के लिए घरेलू क्रिकेट खेलने वाले वीरू के नाम 104 टेस्ट में 8586 रन और 251 वनडे में 8273 रन दर्ज हैं। इसके अलावा वह वनडे में 96 और टेस्ट में कुल 40 विकेट भी ले चुके हैं। वहीं, टी20 क्रिकेट में भी सहवाग ने अपना जलवा जारी रखा। मुल्तान के सुल्तान ने 19 टी20 मैच खेले जिनमें उन्होंने 2 अर्धशतकों की मदद से कुल 394 रन बनाए।

वनडे क्रिकेट में दोहरा शतक लगा चुके सहवाग उस भारतीय टीम का भी हिस्सा रह चुके हैं, जो 2009 में आईसीसी टेस्ट रैंकिंग में नंबर वन पर पहुंची थी और उसके बाद 2011 में विश्व कप जीतने में भी सफल रही थी। क्रिकेट से संन्यास लेने के बाद ये पूर्व विस्फोटक बल्लेबाज कमेंटेटर के रूप में और एक खेल विशेषज्ञ के रूप में क्रिकेट से जुड़ा हुआ है। हालांकि, वीरू सोशल मीडिया पर अपने ट्वीट्स के जरिए भी अपने फैंस का मनोरंजन करते रहते हैं। इसके अलावा सहवाग 2016, 2017 और 2018 में आईपीएल टीम किंग्स इलेवन पंजाब के साथ मेंटर के रूप में भी काम कर चुके हैं।

Cricket News (क्रिकेट न्यूज़) Times now के हिंदी न्यूज़ वेबसाइट -Times Network Hindi पर। और साथ ही IPL News in Hindi (आईपीएल न्यूज़) के अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें।

Times now
Mirror Now
ET Now
zoom Live
Live TV
अगली खबर