Ashes 2019: फिर नहीं चला डेविड वॉर्नर का बल्ला, नाम किया अनचाहा वर्ल्ड रिकॉर्ड 

क्रिकेट
Updated Sep 13, 2019 | 19:06 IST | टाइम्स नाउ डिजिटल

David Warner Unwanted World Record: डेविड वॉर्नर की मौजूदा एशेज सीरीज में नाकामी का सिलसिला बदस्तूर जारी है। ओवल टेस्ट में भी वो दो अंक के आंकड़े को नहीं छू सके और उनके नाम एक अनचाहा विश्व रिकॉर्ड दर्ज हो गया।

David Warner
डेविड वॉर्नर  |  तस्वीर साभार: AP

मुख्य बातें

  • एशेज 2019 में आठ बार दो अंक के आंकड़े को नहीं छू पाए वॉर्नर
  • 9 में से 6 बार बने हैं स्टुअर्ट ब्रॉड का शिकार
  • 5 टेस्ट की 9 पारियों में 9.33 की औसत से बनाए हैं 84 रन

लंदन: ऑस्ट्रेलिया के दिग्गज बल्लेबाज डेविड वॉर्नर अपने करियर के सबसे खराब फॉर्म से गुजर रहे हैं। एक साल के बैन के बाद टेस्ट टीम में वापसी करने वाले वॉर्नर के लिए एशेज 2019 बुरा सपना साबित हो रही है। वर्ल्ड कप 2019 में अपने बल्ले से धमाका करने वाला बांए हाथ के ये कंगारू बल्लेबाज एशेज में बुरी तरह फ्लॉप होगा ये किसी ने सपने में भी नहीं सोचा था। एक तरफ स्टीव स्मिथ का बल्ला लगातार रन उगल रहा है तो दूसरी तरफ वॉर्नर की नाकामी का सिलसिला बदस्तूर जारी है। शुक्रवार को पांचवें और निर्णायक एशेज टेस्ट के दूसरे दिन वॉर्नर 5 रन बनाकर पवेलियन लौट गए। इसके साथ ही उनके नाम एक अनचाहा और शर्मनाक विश्व रिकॉर्ड दर्ज हो गया। 

प्रशंसकों को आशा थी कि वॉर्नर पांचवें और अंतिम एशेज टेस्ट में बल्ले से आलोचकों को करारा जवाब देंगें लेकिन ऐसा नहीं हो सका। इंग्लैंड को ओवल टेस्ट की पहली पारी में 294 रन पर ढेर करने बल्लेबाजी करने उतरी ऑस्ट्रेलियाई टीम के लिए पारी की शुरुआत करने डेविड वॉर्नर और मार्कस हैरिस की जोड़ी उतरी। सबकी नजरें वॉर्नर पर थीं लेकिन वो दूसरे ओवर की पांचवीं गेंद पर जोफ्रा आर्चर की गेंद पर विकेटकीपर जॉनी बेयर्स्टो के हाथों लपके गए। 11 गेंद का सामना करके वो केवल पांच रन बना सके। इसी के साथ ही उनके नाम एक टेस्ट सीरीज में बतौर ओपनर 8 बार दो अंक के आंकड़े तक नहीं पहुंचने का विश्व रिकॉर्ड दर्ज हो गया। 

मौजूदा एशेज सीरीज में आठवीं बार वॉर्नर दो अंक के आंकड़े को छुए बगैर पवेलियन लौट गए। तीन बार वो सीरीज में अपना खाता भी नहीं खोल सके। सीरीज में अब तक खेली 9 पारियों में 6 बार वॉर्नर स्टुअर्ट ब्रॉड का शिकार बने हैं। लगातार तीन बार ब्रॉड ने उन्हें खाता भी नहीं खोलने दिया। बर्मिंघम में खेले गए पहले टेस्ट की दोनों पारियों में 2,8 रन बना सके। इसके बाद लॉर्ड्स में खेले गए दूसरे टेस्ट में वो 3, 5 रन की पारी खेल सके। लेकिन लीड्स में खेले गए तीसरे टेस्ट की पहली पारी में उन्होंने 61 रन की पारी खेली तब लगा कि वो अपने रंग में वापस लौट आए हैं लेकिन दूसरी पारी में अपना खाता भी नहीं खोल सके। ये सिलसिला मैनचेस्टर टेस्ट में भी जारी रहा और वो वहां दोनों पारियों में अपना खाता नहीं खोल पाए थे। 

मौजूदा एशेज में 32 वर्षीय वॉर्नर ने अब तक 9 पारियों में 9.33 की औसत से 84 रन बनाए हैं। उनका उच्चतम स्कोर 61 रन रहा है। वॉर्नर और ब्रॉड के बीच जंग सीरीज में चर्चा का विषय रही है। ब्रॉड ने उनके खिलाफ मौजूदा सीरीज में 99 गेंद फेंकी है जिसमें वॉर्नर 33 रन सके और 6 बार आउट हुए। 
 

अगली खबर
loadingLoading...
loadingLoading...
loadingLoading...