जानिए रवि शास्त्री ने क्यों कहा, क्या मैं टीम में तबला बजाने के लिए हूं?

क्रिकेट
Updated Sep 26, 2019 | 20:55 IST | टाइम्स नाउ डिजिटल

Team India Coach Ravi Shastri defends Rishabh Pant: भारतीय क्रिकेट टीम के कोच रवि शास्त्री ने रिषभ पंत का बचाव करते हुए अटपटा बयान दिया है।

Ravi Shastri
Ravi Shastri 

मुख्य बातें

  • टी-20 सीरीज से पहले रवि शास्त्री ने रिषभ पंत को दी थी कड़ी चेतावनी
  • विश्व कप 2019 से रिषभ पंत रहे हैं बल्ले से नाकाम
  • टीम मैनेजमेंट उन्हें देना चाहता है ज्यादा से ज्यादा मौके

नई दिल्ली: Team India Coach Ravi Shastri on Rishabh Pant: भारतीय क्रिकेट टीम के मुख्य कोच रवि शास्त्री ने कहा है कि जब टीम के किसी खिलाड़ी खराब फॉर्म में चल रहा हो या चीजें उसके अनुरूप नहीं हो रही हैं तो उन्हें ठीक करने की जिम्मेदारी  उनकी है। ये बात उन्होंने रिषभ पंत की दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ टी-20 सीरीज से पहले कड़ी फटकार लगाने के बाद आए बयानों के जवाब में कही। 

रवि शास्त्री ने कहा, जब मैं अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में रिषभ पंत के खराब फॉर्म के बारे चर्चा कर रहा था तो मेरी बात उनकी खिंचाई करने के लिए थी। पंत हालिया विश्व कप से खराब फॉर्म में हैं। इस युवा विकेटकीपर बल्लेबाज का शॉट सेलेक्शन बेहद खराब रहा है और वो बार बार गलती दोहरा रहे हैं।   

वेस्टइंडीज दौरे पर पंत के खराब प्रदर्शन के मद्देनजर टीम के नए बैटिंग कोच विक्रम राठौर ने कहा कि युवा खिलाड़ियों को लापरवाह और आक्रामक(केयरलेस एंड फियरलेस) के बीच का बारीक अंतर समझना होगा। उन्होंने उन्हें इस दौरान धैर्य रखने की सलाह दी थी। 

रिषभ पंत के संघर्ष की बात करते हुए रवि शास्त्री ने कहा कि टीम मैनेजमेंट युवा खिलाड़ी की लय हासिल करने में मदद करेगा। उन्होंने कहा, टीम मैनेजमेंट मत कहिए मैं लोगों को ठीक करने की बात करता हूं। यदि कोई गड़बड़ करता है तो मेरा काम उनकी खिंचाई करने का है। क्या मैं वहां तबला बजाने के लिए हूं? लेकिन ये खिलाड़ी विश्व स्तरीय है। ये खिलाड़ी विध्वंशक हो सकता है और हम अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में पैर जमाने के लिए उनका पूरा समर्थन करेंगे।   

उन्होंने आगे कहा, वो विश्व स्तरीय और मैच विनर खिलाड़ी हैं। विश्व में उनके जैसे कम खिलाड़ी हैं। सीमित ओवरों की क्रिकेट में जब चयन की बात आए तो मुझे उस जैसे पांच खिलाड़ी भी नहीं मिलेंगे। इसलिए हम उनके मामले में धैर्य रखेंगे। 

पूरी मिडिया और एक्सपर्ट पंत की आलोचना कर रहे हैं और उनके खिलाफ लिख रहे हैं लेकिन मैं आपको एक बात बता देता हूं कि वो भारतीय टीम में मजबूत जगह पर हैं। एक्सपर्ट अपना काम कर रहे हैं वो बोल सकते हैं। पंत एक स्पेशल खिलाड़ी है और वो अब तक बहुत कुछ कर चुके हैं। वो आगे वो सीखेंगे ही। यही टीम मैनेजमेंट उन्हें पटरी पर वापस लाएगा। 

शास्त्री का ये कमेंट गौतम गंभीर की उस टिप्पणी के बाद आया है जब उन्होंने टीम मैनेजमेंट द्वारा रिषभ पंत के बारे में दिए गए हालिया बयान को आड़े हाथों लिया था। टीम के पूर्व धुरंधर युवराज सिंह ने भी पंत का समर्थन करते हुए कहा था कि उनकी गेंद पर प्रहार करने की नेचरुल एबीलिटी के साथ छेड़छाड़ नहीं करना चाहिए। उन्हें अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में खुद स्थापित करने के लिए अतरिक्त मौके दिए जाने चाहिए। अभी टी-20 विश्व कप के लिए लंबा समय बाकी है। धोनी जैसा खिलाड़ी एक दिन में नहीं बना है। उनके जैसा बनने में कई साल लगेंगे। टी-20 विश्व कप के आयोजन में अभी एक साल है जो कि लंबा वक्त है। 

अगली खबर