Chandigarh Airport Facility: एयरपोर्ट जाने वाले यात्रियों को राहत, शटल बस में अब नहीं होगी सामान की चिंता

Chandigarh Airport Facility: चंडीगढ़ आईएसबीटी से शटल बस द्वारा एयरपोर्ट जाना अब उन यात्रियों के लिए भी आसान हो गया है, जो हैवी लगेज साथ लेकर चलते थे। सीटीयू ने इन शटल बसों में अब सामान रखने के लिए लगेज स्पेस भी उपलब्ध कराना शुरू कर दिया है। साथ ही फीडबैक के लिए क्यूआर कोड बेस सिस्टम भी लगाया गया है।

Shuttle service Chandigarh ISBT
चंडीगढ़ एयरपोर्ट से चलने वाली शटल बस   |  तस्वीर साभार: Twitter
मुख्य बातें
  • शटल बसों से अब हैवी लगेज वाले यात्री भी जा सकेंगे एयरपोर्ट
  • शटल बसों में सामान रखने के लिए बनाया गया अलग से स्‍पेस
  • यात्री क्यूआर कोड बेस सिस्टम से दे सकेंगे अपना फीडबैक

Chandigarh Airport Facility: चंडीगढ़ के आईएसबीटी से शटल बस द्वारा एयरपोर्ट जाने वाले यात्रियों के लिए चंडीगढ़ ट्रांसपोर्ट अंडरटेकिंग (सीटीयू) ने एक नई सुविधा शुरू की है। सीटीयू ने इन यात्रियों की समस्‍या को देखते हुए अब एयरपोर्ट पर फ्लाइट से आने वाले यात्रियों को इन बसों में सामान रखने के लिए लगेज स्पेस भी उपलब्ध कराना शुरू कर दिया है। शनिवार को यह नई सुविधा शुरू हो गई है। इससे अब ज्‍यादा लगेज होने के बाद भी यात्री इस बस में सफर कर सकेंगे।

बता दें कि सीटीयू ने करीब दो माह पहले ही आइएसबीटी से चंडीगढ़ इंटरनेशनल एयरपोर्ट के लिए शटल बस सर्विस की शुरुआत की थी। इस सेवा के शुरू होने के बाद से ही यात्रियों का अच्‍छा रिस्‍पॉस मिल रहा है। शटल बस से प्रतिदिन करीब 400 यात्री सफर कर रहे हैं। सीटीयू के अनुसार इस सर्विस के शुरू होने के बाद से अब तक करीब 22 हजार पैसेंजर यात्रा कर चुके हैं।

बसों में लगेज के लिए बनाई गई अलग जगह

बता दें कि अभी तक वे यात्री इस शटल बस सुविधा का फायदा नहीं उठा पा रहे थे, जिनके पास ज्‍यादा सामान होता था। ऐसे यात्रियों को अभी तक टैक्‍सी या प्राइवेट कार पर ही निर्भर रहना पड़ता था। इस बस में अभी तक दो बैग साथ ले जाने की सुविधा थी। हालांकि अब इन बसों में लगेज के लिए अलग से जगह बनाई गई है। यहां यात्री अपना सामान सुरक्षित रख सकते हैं।

यात्री दे सकेंगे अपना फीडबैक

इसके अलावा एयरपोर्ट से आने जाने वाले यात्रियों के फीडबैक के लिए बस में क्यूआर कोड बेस सिस्टम भी शुरू किया गया है। कोई भी यात्री अपने फोन में इस क्यूआर कोड को स्कैन कर अपना जरूरी फीडबैक ट्रांसपोर्ट डिपार्टमेंट को दे सकेगा। अगर यात्रियों को बस में कोई असुविधा हुई या फिर कोई बदलाव चाहते हैं तो वे अपना सुझाव बता सकेंगे। इसके बाद सीटीयू की बैकएंड टीम इसे देखते हुए जरूरी बदलाव करेगी।

Times Now Navbharat
Times now
zoom Live
ET Now
ET Now Swadesh
Live TV
अगली खबर