Chandigarh Health: मरीजों के लिए राहत भरी खबर, एक साल से बंद पड़ा पीजीआई का यह ब्‍लड सैंपल कलेक्शन सेंटर शुरू

Chandigarh Health: पिछले एक साल से नेहरू अस्‍पताल में बंद पड़े ब्‍लड सैंपलिंग सेंटर को एक बार फिर से खोल दिया गया है। इससे अब पीजीआई में इलाज के लिए आने वाले मरीजों को ब्‍लड सैंपल के लिए घंटों लाइन नहीं लगाना पड़ेगा। यहां पर सुबह साढ़े 9 बजे से दोपहर 1 बजे तक जांच के लिए ब्‍लड सैंपल लिया जाएगा। वहीं आपातकाल में यह सुविधा सातों दिन और 24 घंटे उपलब्‍ध रहेगी।

Chandigarh PG
पीजीआई के नेहरू अस्‍पताल में शुरू हुआ ब्‍लड सैंपलिंग सेंटर   |  तस्वीर साभार: फेसबुक
मुख्य बातें
  • नेहरू अस्‍पताल में शुरू हुआ ब्‍लड सैंपलिंग सेंटर
  • पिछले एक साल से बंद पड़ा था यह सैंपलिंग सेंटर
  • यहां सुबह साढ़े 9 से दोपहर एक बजे तक होगी सैंपलिंग

Chandigarh Health: चंडीगढ़वासियों के लिए राहत भरी खबर है। पीजीआई से संबंधित नेहरू अस्पताल में मरीजों के ब्‍लड सैंपल के लिए बंद पड़े सैंपल कलेक्शन सेंटर को फिर से शुरू कर दिया गया है। इस बारे में पीजीआई के निदेशक ने आदेश जारी करते हुए बताया कि, अब मरीज नेहरू अस्‍पताल में ब्‍लड सैंपलिंग कर सकते हैं। यह सुविधा तत्‍काल प्रभाव से शुरू हो गई है। इसके साथ ही ब्‍लड सैंपलिंग के समय को भी बढ़ा दिया गया है। अब मरीज यहां पर सुबह साढ़े 9 बजे से दोपहर 1 बजे तक जांच के लिए ब्‍लड सैंपल दे सकेंगे।

बता दें कि, इस कलेक्शन सेंटर पर नेहरू अस्पताल के मेडिकल माइक्रोबायोलॉजी, इम्यूनोपैथोलॉजी, एंडोक्रिनोलोजी और मेडिकल पेरासिटोलॉजी विभाग की जांच के नमूने लिए जाएंगे। आवश्यकता पड़ने पर यहां दोपहर 1 बजे के बाद माइक्रोबायॉलोजी लैब के आपातकालीन मरीजों के सैंपल भी लिए जाएंगे। वहीं यहां के मेडिकल माइक्रोबायॉलोजी कल्चर लैब में शाम 5 बजे तक सैंपल लिए जाएंगे।

मरीजों को नहीं लगानी होगी लाइन

बता दें कि, नेहरू अस्पताल में लगभग 50 साल से चल रहे इस सैंपल कलेक्शन सेंटर को पिछले साल किन्हीं कारणों से बंद कर दिया गया था। यह पिछले एक साल से बंद पड़ा था। जिसकी वजह से मरीजों व अटेंडेंट को जांच के लिए रक्त का नमूना लेकर रिसर्च ब्लॉक में जाना होता था। यहां पर मरीजों व उनके परिजनों को लंबी लाइन में लगकर घंटों इंतजार करना पड़ रहा था। जिसके बाद लोगों को सैंपल देने का मौका मिलता था। कई बार घंटों इंतजार के बाद भी लोग ब्‍लड सैंपल नहीं दे पाते थे। लोगों को मजबूरन प्राइवेट लैब का सहारा लेना पड़ता था। हालांकि अब नेहरू अस्‍पताल में सैंपलिंग शुरू होने के बाद लोगों को काफी राहत मिलेगी। यहां होने वाली सैंपलिंग से मरीजों को इसलिए भी ज्‍यादा फायदा मिलेगा, क्‍योंकि यहां पर आपातकाल की स्थिति में हेमिटोलॉजी व बायोकेमिस्ट्री से संबंधित सभी जांच बायोकेमिस्ट्री लैब में सातों दिन और चौबीस घंटे की जाएगी।

Times Now Navbharat
Times now
zoom Live
ET Now
ET Now Swadesh
Live TV
अगली खबर