सीसीटीवी फुटेज में दिखी सीसीडी के मालिक सिद्धार्थ की कार, कोका कोला से होनी थी डील!

बिजनेस
Updated Jul 30, 2019 | 17:28 IST | टाइम्स नाउ डिजिटल

CCD boss VG Siddhartha missing : सिद्धार्थ की एक चिट्ठी भी सामने आई है। इस चिट्ठी में उन्होंने अपनी परेशानियों का जिक्र किया है। इस चिट्ठी में उन्होंने अपनी परेशानी एवं नाकामी का जिक्र किया है।

 VG Siddhartha's car last seen in CCTV footage
सोमवार शाम से लापता हैं सीसीटीवी के बॉस वीजी सिद्धार्थ। 

मुख्य बातें

  • सोमवार शाम से लापता हैं सीसीडी के बॉस वीजी सिद्धार्थ
  • नेत्रावती नदी में छलांग लगाने की आशंका, पुलिस जांच में जुटी
  • चिट्ठी में सिद्धार्थ ने अपनी असफलता के बारे में बताया

बेंगलुरु : कैफे कॉफी डे के मालिक एवं कर्नाटक के पूर्व मुख्यमंत्री एसएम कृष्णा के दामाद वीजी सिद्धार्थ की तलाश जारी है। सिद्धार्थ के बारे में अब तक जो जानकारी सामने आई है उसके मुताबिक उनके नेत्रावती नदी में कूदने की बात कही जा रही है। इस बीच एक सीसीटीवी फुटेज सामने आया है जिसमें सिद्धार्थ की काले रंग की इनोवा कार को देखा जा सकता है। यह सीसीटीव फुटेज बंगलोर-मंगलोर हाई वे पर स्थित एक टोल प्लाजा का है। पुलिस इस सीसीटीवी फुटेज की जांच कर रही है। इसके साथ ही पुलिस सिद्धार्थ के बारे में मिलने वाली जानकारियों की कड़ियों को जोड़कर अपनी जांच की दिशा तय कर रही है। कैफे कॉफी डे के मालिक की तलाश में 200 से ज्यादा पुलिसकर्मी जुटे हैं और नेत्रावती नदी में उनकी तलाश के लिए करीब 25 नावों को लगाया गया है। पुलिस मैसूर-मंगलोर हाई-वे के सीसीटीवी फुटेज भी खंगाल रही है।   

इस बीच, मीडिया रिपोर्टों और सोशल मीडिया में यह बात भी चल रही है कि कैफे कॉफी डे और शीतल पेय कंपनी कोका कोला के बीच एक डील पर बातचीत चल रही थी। रिपोर्टों की मानें तो सिद्धार्थ को यह उम्मीद थी कि यह डील हो जाने पर उन्हें आर्थिक रूप से कुछ राहत मिलेगी और उनके कर्ज का बोझ थोड़ा हल्का होगा। रिपोर्टों के अनुसार वह कर्ज उतारने के लिए सीसीडी की कुछ हिस्सेदारी बेचना चाहते थे। समझा जाता है कि यह डील परवान नहीं चढ़ने की वजह से उन्होंने इस तरह का कदम उठाया होगा। हालांकि, कोका कोला के साथ उनकी बातचीत अभी शुरुआती चरण में थी। 30 जुलाई यानि मंगलवार को कैफे कॉफी डे बोर्ड की मीटिंग होने वाली थी लेकिन सिद्धार्थ 29 जुलाई की शाम छह बजे से लापता हो गए। 

दरअसल, सिद्धार्थ अपने ड्राइवर के साथ कार से निकले थे। सिद्धार्थ के कार चालक के मुताबिक नेत्रावती नदी के पुल पर पुहंचने पर उन्होंने नदी की सैर करने की बात कह कार से नीचे उतर गए लेकिन एक घंटे बाद तक वापस नहीं आए। अब इस बात की आशंका जताई जा रही है कि सिद्धार्थ नदी में कूद गए होंगे। नदी में उनकी तलाश के लिए 25 गोताखोर की टीम लगी हुई है। इस बीच एक प्रत्यक्षदर्शी ने दावा किया है कि उसने एक व्यक्ति को पुल से नीचे कूदते देखा लेकिन वह व्यक्ति कौन था उसके बारे में वह निश्चित रूप से कुछ नहीं कह सकता। पुलिस की एक टीम सिद्धार्थ के परिजनों से बात कर यह जानने की कोशिश कर रही है कि उन्होंने अंतिम बार किससे और क्या बात की। 

इस बीच, सिद्धार्थ की एक चिट्ठी भी सामने आई है। इस चिट्ठी में उन्होंने अपनी परेशानियों का जिक्र किया है। चिट्ठी में सिद्धार्थ ने लिखा है, '37 सालों के कठिन परिश्रम के बाद मैंने अपनी कंपनियों में 30 हजार नौकरियां पैदा कीं लेकिन मैं एक सही बिजनेस मॉडल तैयार करने में असफल रहा। जिन लोगों ने मुझमें विश्वास जताया उन्हें निराशा में डालकर मुझे बहुत दुख हो रहा है।' ऐसी चर्चा है कि सीसीडी पर करीब 7000 करोड़ रुपए का कर्ज था।

सीसीडी बोर्ड ने जारी किया बयान
इस बीच सीसीडी ने एक बयान जारी कर कहा है कि उसके प्रमोटर और चेयरमैन एवं मैनेजिंग डाइरेक्टर के बारे में अब तक कोई जानकारी नहीं मिल पाई है। वह सोमवार शाम से लापता हैं। उनके बारे में जो जानकारी सामने आ रही है उसे जानकर हम सदमे में हैं। हमारी प्रार्थना एवं सहयोग उनके परिवार के साथ है। बयान के मुताबिक बोर्ड ने आज एक आपात बैठक की जिसमें मौजूदा स्थिति का आकलन किया जा रहा है। कंपनी का कामकाज प्रभावित न हो इसके लिए सही रणनीति बनाई जा रही है। 

अगली खबर
loadingLoading...
loadingLoading...
loadingLoading...