Budget 2020: किसान से लेकर करदाताओं तक किसे क्या मिला, तस्वीरों में जानिए बजट में आपके काम की सभी अहम बातें

बिजनेस
किशोर जोशी
Updated Feb 02, 2020 | 00:19 IST

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने शनिवार को लोकसभा में आम बजट 2020 पेश किया और इस दौरान उन्होंने कई महत्वपूर्ण घोषणाएं की। आइए तस्वीरों के जरिए जानते हैं बजट की अहम घोषणाओं को-

Budget 2020 Who got what from farmers to taxpayers, know all the important things about your work
तस्वीरों के जरिए जानिए बजट में आपके काम की सभी अहम बातें 

मुख्य बातें

  • सीतारमण ने बजट में व्यक्तिगत आयकर दाताओं को घटी दरों के साथ नई वैकल्पिक आयकर व्यवस्था का प्रस्ताव किया
  • नई दरें करदाताओं के लिये वैकल्पिक हैं। यानी वह चाहें तो नये कर स्लैब के अनुरूप कर का भुगतान कर सकते हैं
  • स्वास्थ्य कल्याण मंत्रालय के बजट आवंटन में वित्तीय वर्ष 2020-21 के लिये आवंटित राशि में 3.75 प्रतिशत की बढ़ोत्तरी

नई दिल्ली: केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने शनिवार को बजट 2020 पेश कर दिया है। इस बजट में मध्यम वर्ग पर भी खासा ध्यान दिया गया है। इसके अलावा वित्त मंत्री ने हाउसिंग सेक्टर से लेकर किसानों, स्वास्थ्य, बैंकिग सहित कई क्षेत्रों के लिए महत्वपूर्ण ऐलान किए। बैंकों में जमाकर्ताओं के लिए सबसे काम की बात ये है कि अब उनके जमा पैसे पर बीमा पांच गुना कर दिया गया है पहले यह एक लाख रुपये था जो बढ़कर अब पांच लाख रुपये हो गया है। तो आईए ग्राफिक्स के जरिए जानते हैं बजट की बड़ी बातों को-

1- 2020-21 के लिए 15 लाख करोड़ रुपये के कृषि ऋण का लक्ष्‍य। पशुपालन, भंडारण, नीली अर्थव्‍यवस्‍था तथा किसानों की आमदनी बढ़ाने के लिए  16 सूत्री कार्य योजना पर जोर


2- सार्वभौमिक पेंशन सुरक्षा में स्वतः प्रवेश। भारतीय पेंशन निधि नियामक विकास प्राधिकरण में संशोधन करके पीएफआरडीएआई की नियामक भूमिका को मजबूत किया जाएगा। सरकारी कर्मचारियों से भिन्न कर्मचारियों द्वारा पेंशन ट्रस्ट की स्थापना हो पाएगी। 

3- केन्द्रीय #Budget2020 में शिक्षा के लिए 99,300 करोड़ रुपये, कौशल विकास के लिए 3000 करोड़ रुपये का प्रावधान। 150 उच्चतर शैक्षिक संस्थान मार्च 2021 तक अप्रेंटिसशिप इम्बेडेड डिग्री/डिप्लोमा पाठयक्रम शुरू किया जाएगा।

4- डाटा क्षमता का लाभ लेने हेतु निजी कंपनियों के लिए शीघ्र ही डाटा सेंटर पार्क नीति। 1,00,000 ग्राम पंचायतों को जोड़ने के लिए भारतनेट कार्यक्रम हेतु 6,000 करोड़ रुपये का प्रावधान

5- वर्ष 2020-21 के दौरान पोषण संबंधी कार्यक्रमों के लिए 35,600 करोड़ रुपये का प्रावधान। महिलाओं के कार्यक्रम के लिए 28,600 करोड़ रुपये का आवंटन।

6- 18600 करोड़ रुपये की लागत से 148 किलोमीटर लम्बे बैंगलुरु उप-नगरीय परिवहन परियोजना का प्रस्ताव। साथ ही रेल लाइनों के किनारे बड़े सौर ऊर्जा क्षमता की स्थापना का प्रस्ताव 

7- व्‍यक्तिगत करदाताओं को पर्याप्‍त राहत देने और आयकर कानूनों को सरल बनाने के लिए वित्‍त मंत्री ने एक नई और सरलीकृत व्‍यक्तिगत आयकर व्‍यवस्‍था बनाने का प्रस्‍ताव किया है

इसके अलावा वर्ष 2020-21 के लिए पेश बजट में महिला एवं बाल विकास मंत्रालय के लिए 30 हजार करोड़ रुपये का प्रावधान किया गया है जो मौजूदा वित्त वर्ष 2019- 20 के लिए आवंटित राशि से 14 फीसदी अधिक है।

अगली खबर