बजट 2020 में किसानों को मिल सकती है राहत, कम हो सकता है फर्टिलाइजर का दाम

2020 Budget Expectations For Fertilizer Sector: आम बजट 2020 में सरकार उर्वरक को लेकर बड़ा ऐलान कर सकती है। सरकार उर्वरक में इस्तेमाल होने वाले कच्चे माल पर आयात शुल्क कम कर सकती है।

Budget 2020
Budget 2020: बजट 2020 में मिल सकती है किसानों को नई राहत  |  तस्वीर साभार: BCCL

नई दिल्ली: आम बजट के पेश होने में कुछ दिन ही रह गए हैं और इस बजट से विभिन्न सेक्टर की अपेक्षाएं सामने आने लगी हैं। आम आदमी जहां टैक्स और महंगाई से राहत चाहता है, वहीं इंफ्रास्ट्रक्चर सेक्टर बुस्टअप चाहता है। वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण मोदी सरकार के दूसरे कार्यकाल का दूसरा बजट 1 फरवरी को पेश करेंगी। इस बजट में कई बड़ी घोषणाएं हो सकती हैं। 

सरकार देश में विनिर्माण को बढ़ावा देने के लिए आने वाले बजट में फर्टिलाइजर (उर्वरक) उद्योग में उपयोग होने वाले कच्चे माल पर आयात शुल्क कम कर सकती है। रिपोर्ट्स के मुताबिक सरकार फर्टिलाइजर उद्योग में इस्तेमाल होने वाले कच्चे माल पर आयात शुल्क में कटौती पर विचार कर रही है।

सूत्रों के हवाले से दी गई जानकारी में बताया गया है कि डाई अमोनियम फास्फेट (डीएपी) में उपयोग होने वाले रॉक फास्फेट और सल्फर जैस कच्चे माल पर कम आयात शुल्क से घरेलू उत्पादन को बढ़ावा मिलेगा और आयात बिल में कमी आएगी। 

फिलहाल इस प्रकार के आयात पर 5 फीसदी शुल्क लगता है। वहीं देश में डीएपी की कुल जरूरत का लगभग 95 फीसदी हिस्सा वैश्विक बाजार से आयात किया जाता है। जबकि यूरिया की कुल जरूरत का लगभग 30 फीसदी आयात किया जाता है। इस वित्त वर्ष में अप्रैल से दिसंबर के दौरान देश में कच्चे और तैयार फर्टिलाइजर का आयात 8.47 फीसदी बढ़कर 6.2 अरब डॉलर हो गया है। 

वाणिज्य मंत्रालय ने वित्त मंत्रालय से घरेलू विनिर्माण को बढ़ावा देने की मांग की है। इसके लिए मंत्रालय ने आयात बिल में कमी लाने को लेकर 300 जिंसों पर मूल सीमा शुल्क को युक्तिसंगत करने का सुझाव दिया है। वाणिज्य मंत्रालय ने रद्दी कागज और लुग्दी पर आयात शुल्क हटाने का प्रस्ताव भी दिया है, दोनों पर फिलहाल क्रमशः 10 फीसदी और 5 फीसदी शुल्क लगता है। 

Times now
Mirror Now
ET Now
zoom Live
Live TV
अगली खबर