Inflation: थोक मुद्रास्फीति दिसंबर में बढ़कर 2.59 प्रतिशत हुई, प्याज- आलू के दाम बढ़ने का हुआ असर

बिजनेस
भाषा
Updated Jan 14, 2020 | 13:57 IST

मुद्रास्फीति में 2.59 प्रतिशत की बढ़ोत्तरी देखने को मिली है और यह इजाफा मुख्य तौर पर आलू और प्याज की कीमतों में इजाफा होने के चलते हुआ है।

Inflation increase
मुद्रास्फीति में बढ़ोत्तरी 

नई दिल्ली: थोक मूल्य सूचकांक आधारित मुद्रास्फीति दिसंबर, 2019 में बढ़कर 2.59 प्रतिशत पर पहुंच गई। मुख्य रूप से प्याज और आलू के दाम बढ़ने से थोक मुद्रास्फीति बढ़ी है। नवंबर में थोक मूल्य सूचकांक आधारित मुद्रास्फीति 0.58 प्रतिशत पर थी। दिसंबर, 2018 में यह 3.46 प्रतिशत के स्तर पर थी।

वाणिज्य एवं उद्योग मंत्रालय की ओर से मंगलवार को जारी आंकड़ों के अनुसार दिसंबर में खाद्य वस्तुओं के दाम 13.12 प्रतिशत बढ़े। एक महीने पहले यानी नवंबर में इनमें 11 प्रतिशत की बढ़ोतरी हुई थी। इसी तरह गैर खाद्य उत्पादों के दाम चार गुना होकर 7.72 प्रतिशत पर पहुंच गए।

नवंबर में गैर खाद्य वस्तुओं की मुद्रास्फीति 1.93 प्रतिशत थी। आंकड़ों के अनुसार, खाद्य वस्तुओं में माह के दौरान सब्जियां सबसे अधिक 69.69 प्रतिशत महंगी हुईं। इसकी मुख्य वजह प्याज है जिसकी मुद्रास्फीति माह के दौरान 455.83 प्रतिशत बढ़ी।

इस दौरान आलू के दाम 44.97 प्रतिशत चढ़ गए। इससे पहले सोमवार को उपभोक्ता मूल्य सूचकांक आधारित मुद्रास्फीति दिसंबर में बढ़कर 7.35 प्रतिशत पर पहुंच गई, जो इसका पांच साल का उच्चस्तर है।

Times now
Mirror Now
ET Now
zoom Live
Live TV
अगली खबर