क्या देश के नए करोड़पति बायजू के सीईओ के बारे में ये बातें जानते हैं आप

बिजनेस
Updated Jul 29, 2019 | 13:30 IST | टाइम्स नाउ डिजिटल

देश का ऑनलाइन लर्निंग प्लेटफॉर्म बायजू दिन ब दिन बढ़ता जा रहा है। इसके साथ ही एप के सीईओ बायजू रविंद्रन देश के नए करोड़पति बन गए हैं। जानिए इससे जुड़ी कुछ खास बातें।

byju raveendran
बाजयू रविंद्रन के बारे में खास बातें  |  तस्वीर साभार: BCCL
मुख्य बातें
  • बायजू रविंद्रन की कंपनी की वैल्यू लगभग 7 साल में 600 करोड़ डॉलर हो गई है।
  • साल 2011 में रविंद्रन ने ऑनलाइन लर्निंग प्लेटफॉर्म की शुरुआत की थी और साल 2015 में उन्होंने अपना एप लॉन्च किया।
  • बायजू रविंद्रन के माता पिता स्कूल टीचर थे और उनका बचपन दक्षिण भारत के एक गांव में गुजरा है।

नई दिल्ली: भारत के नए करोड़पति एक पूर्व टीचर हैं, जिन्होंने एक एजुकेशन एप बनाया जिसकी वैल्यू 7 सालों में लगभग 600 करोड़ डॉलर पहुंच गई है। बायजू रविंद्रन, बायजू एप के सीईओ की एंट्री इस क्लब में तब हुई है, जब उनकी थिंक और लर्न प्राइवेट प्राइवेट को 15 करोड़ डॉलर की फंडिंग मिली है। मीडिया सूत्रों के मुताबिक इस डील के बाद कंपनी की वैल्यू 570 करोड़ डॉलर पहुंच जाएगी, जिसमें संस्थापक की हिस्सेदारी 21 फीसदी है। 

कौन है बायजू रविंद्रन

बायजू रविंद्रन की बचपन दक्षिण भारत के एक गांव में गुजरा है। उनके माता पिता दोनों ही स्कूल टीचर थे। बायजू इंजीनियर बने और इसके बाद उन्होंने अपने दोस्तों को देश के बड़े इंजीनियरिंग और मैनेजमेंट कॉलेट के एंट्रेंस एग्जाम पास करने मदद करना शुरू किया। उनकी क्लास इतनी बड़ी हो गई कि उन्हें स्पोर्ट स्टेडियम में अपनी क्लासेस लेनी पड़ी। उनकी प्रसिद्धी बढ़ती गई और वह एक जानमाने शिक्षक बन गए, जो विभिन्न शहरों में विकेंड क्लास के लिए जाते थे। 

साल 2011 में उन्होंने थिंक और लर्न की स्थापना की, जिसपर लोगों को ऑनलाइन पढ़ाई में मदद मिलती थी। साल 2015 में बायजू एप लॉन्च हुआ। मार्च 2019 तक इस एप को 3.5 करोड़ यूजर्स ने साइन अप किया, जिसमें से 24 लाख यूजर्स 10 हजार रुपए से 12 हजार रुपए वार्षिक फीस प्रदान की। इसके बाद रविंद्रन ने लंबे निवेशकों की तलाश शुरू की। 

बायजू को मिली लेटेस्ट फंडिंग के बाद भी रविंद्रन ने अपने इक्विटी लेवल को मेंटेन रखा है। मामले से जुड़े एक व्यक्ति ने नाम ना बताने की शर्त पर बताया कि अपनी पत्नी और भाई के शेयर को मिलाकर रविंद्रन के पास कंपनी की 35 फीसदी हिस्सेदारी है। 

बायजू की संपत्ति

मार्केट के बढ़ने के साथ ही बायजू की संपत्ति भी बढ़ी। रविंद्रन ने बताया कि इसकी आय मार्च 2020 तक 3000 करोड़ रुपए (लगभग 43.5 करोड़ डॉलर) के दोगुना हो जाएगी। कंपनी के ग्रोथ पर इंडस्ट्री के कई दिग्गजों की नजर है।

बायजू का एप्रोच साफ है- वह बच्चों को आसान और छोटे कंटेंट प्रदान करता है, जो उन्हें आसानी से समझ में आ जाए। डिज्नी में बायजू को एक पहले से तैयार ऑडियंस मिलेगी। इसके साथ ही नई सेवा में सभी पाठ को एंटरटेनमेंट के साथ समझाया जाएगा। टेंपरेचर को समझाने के लिए फ्रोजेन एल्सा के उदाहरण का सहारा लिया गया है। जिसमें दिखाया गया है कि वह लगातार बर्फ से खेलती है, इसलिए उसकी तबीयत खराब होती है। 

Times Now Navbharat पर पढ़ें Business News in Hindi, साथ ही ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें ।

Times Now Navbharat
Times now
zoom Live
ET Now
ET Now Swadesh
Live TV
अगली खबर