कौन-सा क्रेडिट कार्ड बेहतर? सोच-समझकर लें फैसला, कुछ सुझावों पर दें ध्यान

क्रेडिट कार्ड रखने वाले लोगों को  इससे जुड़े तरह-तरह के चार्ज के बारे में भी पता होना जरूरी है। कुछ सुझाव हैं जिन पर अवश्य ध्यान दें।

Which credit card is better? take decision carefully, pay attention on some suggestions
क्रेडिट कार्ड लेने से पहले करें विचार  |  तस्वीर साभार: BCCL

क्रेडिट कार्ड, कई लोगों का पसंदीदा पेमेंट टूल है क्योंकि यह लेनदेन को सुविधाजनक बनाने के साथ-साथ एक शॉर्ट-टर्म इनकम रिप्लेसमेंट की तरह काम भी करता है और तरह-तरह के रिवार्ड्स और बेनिफिट्स के माध्यम से हमारे खर्च पर इंसेंटिव भी देता है। लेकिन, इसका इस्तेमाल बड़ी समझदारी और जिम्मेदारी के साथ करना चाहिए और इंटरेस्ट पेनाल्टी से बचने के लिए इंटरेस्ट-फ्री पीरियड के भीतर ही इसका ड्यू क्लियर कर देना चाहिए। इसी तरह, इससे जुड़े तरह-तरह के चार्ज के बारे में भी पता होना जरूरी है। इस आर्टिकल में, हम इनमें से एक अतिमहत्वपूर्ण चार्ज - एनुअल फीस के बारे में जानेंगे।

क्रेडिट कार्ड एनुअल फीस क्या है?

एनुअल फीस वह अमाउंट है जो क्रेडिट कार्ड कंपनियां, कार्ड एक्टिवेशन के समय और उसके बाद से कार्ड अकाउंट को एक्टिव रखने के लिए साल में एक बार लेती हैं। लेकिन कुछ कार्ड्स "जीरो एनुअल फीस" कार्ड्स होते हैं जिन पर एनुअल फीस नहीं लगती है। इसके अलावा, कई कार्ड्स ऐसे भी होते हैं जिन पर दूसरे साल से क्रेडिट कार्ड यूजर द्वारा एक पूर्व-निर्धारित अमाउंट खर्च करने पर एनुअल फीस माफ हो जाता है।

तो, क्या आपको वह क्रेडिट कार्ड लेना चाहिए जिस पर एनुअल फीस लगती है?

वैसे, देखने में तो यही लगता है कि वही क्रेडिट कार्ड लेना बेहतर होगा जिस पर एनुअल फीस नहीं लगती है। लेकिन, यह देखना भी जरूरी है कि जिस कार्ड पर एनुअल फीस लगती है उस पर बेहतर रिवार्ड्स मिलते हैं। कभी-कभी तो एनुअल फीस देने पर कुछ स्पेशल बेनिफिट्स या ज्यादा रिवार्ड पॉइंट्स भी मिलते हैं।

कैसे फैसला करें कि आपके लिए कौन-सा कार्ड बेहतर है?

क्रेडिट कार्ड लेते समय सबसे ज्यादा एनुअल फीस पर ही ध्यान दिया जाता है। लेकिन, सिर्फ इसके आधार पर कार्ड नहीं लेना चाहिए। सबसे पहले ऐसे क्रेडिट कार्ड पर ध्यान देना चाहिए जिनके आप योग्य हैं। उसके बाद ऐसे कार्ड्स पर ध्यान देना चाहिए जो आपके खर्च पैटर्न के अनुकूल हो। उदाहरण के लिए, यदि आप क्रेडिट कार्ड का इस्तेमाल सिर्फ किराने का सामान खरीदने के लिए करते हैं तो आपको ग्रोसरी पर कैशबैक या एक्स्ट्रा रिवार्ड पॉइंट्स देने वाला कार्ड लेना चाहिए। यदि आप ऑनलाइन पर बहुत ज्यादा खर्च करते हैं तो ऑनलाइन खर्च पर एक्स्ट्रा डिस्काउंट या रिवार्ड पॉइंट्स देने वाला कार्ड लेना बेहतर होगा। यदि आप अक्सर हवाई जहाज से सफर करते हैं तो एयर माइल्स, कॉम्प्लीमेंटरी ट्रेवल इंश्योरेंस और फ्री लाउंज एक्सेस देने वाला ट्रेवल क्रेडिट कार्ड लेना फायदेमंद होगा।

अपनी योग्यता और खर्च पैटर्न के अनुसार कुछ कार्ड्स चुनने के बाद, यह देखना चाहिए कि बजट के भीतर खर्च करने पर सबसे ज्यादा रिवार्ड्स किस पर मिल रहा है। मान लीजिए, इन सभी मानदंडों के आधार पर चुनाव करने के बाद आपके सामने सिर्फ दो कार्ड ऑप्शन बचते हैं: एक ऐसा कार्ड जो कोई एनुअल फीस नहीं लेता है और एक ऐसा कार्ड जो एनुअल फीस लेता है। तो, पहला ऑप्शन चुनना फायदेमंद लगता है, लेकिन हमेशा ऐसा नहीं होता।

एनुअल फीस देने पर मिलने वाले एक्स्ट्रा बेनिफिट्स को समझने की कोशिश करें

एनुअल फीस लेने वाले कार्ड को न चुनने का फैसला करने से पहले, यह देखना जरूरी है कि क्या एनुअल फीस के बदले में कोई काम की चीज मिल रही है। यदि मिल रही है तो आपको उसका वैल्यू और उसकी उपयोगिता मालूम करनी चाहिए। उदाहरण के लिए, यदि 2,000 रु. एनुअल फीस देने पर 10,000 बोनस एयर माइल्स मिलता है जिसे रेडीम करने पर 5,000 रुपए का ट्रेवल बेनिफिट्स मिल सकता है, खास तौर पर यदि आपको लगता है कि आप ज्यादा-से-ज्यादा एयर माइल्स कमाने के लिए अपने कार्ड से 1 लाख रुपए खर्च करेंगे, तो यह एनुअल फीस लेने वाला कार्ड बुरा सौदा नहीं है।

या मान लीजिए, आप बहुत ज्यादा ऑनलाइन शॉपिंग करते हैं और आप देखते हैं कि एनुअल फीस न लेने वाले और ऑनलाइन खरीदारी पर कोई बेनिफिट न देने वाले कार्ड की तुलना में, 500 रुपए एनुअल फीस लेने वाले कार्ड से अपने पसंदीदा ई-कॉमर्स साइटों से कैशबैक प्रोग्राम के माध्यम से साल में 10,000 रुपए बचा सकते हैं। इस मामले में, एनुअल फीस लेने वाला कार्ड चुनना ज्यादा फायदेमंद होगा।

दूसरी तरफ, यदि एक एनुअल फीस लेने वाला कार्ड आपको बदले में कोई काम की चीज नहीं देता है या उसके द्वारा दिया जाने वाला एक्स्ट्रा बेनिफिट आपके किसी काम का नहीं है या यदि आपको लगता है कि फीस बहुत ज्यादा है तो आपको जीरो एनुअल फीस वाला कार्ड लेना चाहिए। पहली बार क्रेडिट कार्ड का इस्तेमाल करने वालों के लिए बिना एनुअल फीस वाला कार्ड लेना ठीक होगा।

क्या करना चाहिए यदि आप पहले से एक एनुअल फीस लेने वाला कार्ड इस्तेमाल कर रहे हैं?

यदि आप पहले से एनुअल फीस लेने वाला कार्ड इस्तेमाल कर रहे हैं और अपने इनकम पैटर्न में बदलाव के कारण आपको एनुअल फीस देने में परेशानी हो रही है या यदि आपको लगता है कि आपको इसके बदले कोई काम की चीज नहीं मिल रही है तो आप इससे बेहतर ऑप्शन की तलाश कर सकते हैं। सबसे पहले, आप अपनी कार्ड कंपनी से बात करके फीस माफ कराने की कोशिश कर सकते हैं। आप यह भी देख सकते हैं कि आपको बिना एनुअल फीस वाला कार्ड मिल सकता है या नहीं, और ऐसा करने पर आपके क्रेडिट स्कोर पर कोई बुरा असर नहीं पड़ेगा। ध्यान रखें कि एक क्रेडिट कार्ड अकाउंट बंद करने पर क्रेडिट स्कोर पर बुरा असर पड़ सकता है। आपको यह भी पता होना चाहिए कि कुछ कार्ड्स पर एक पूर्व निर्धारित सीमा तक खर्च करने पर एनुअल फीस माफ हो जाती है। यदि वह टारगेट आपके बजट में है तो एनुअल फीस की चिंता करने की कोई जरूरत नहीं है। मुझे उम्मीद है कि इन सुझावों की मदद से आपको सोच-समझकर आसानी से क्रेडिट कार्ड एनुअल फीस से जुड़े फैसलें लेने में मदद मिलेगी।

इस लेख के लेखक, BankBazaar.com के CEO आदिल शेट्टी हैं)
(डिस्क्लेमर: यह जानकारी एक्सपर्ट की रिपोर्ट के आधार पर दी जा रही है। बाजार जोखिमों के अधीन होते हैं, इसलिए निवेश के पहले अपने स्तर पर सलाह लें।) ( ये लेख सिर्फ जानकारी के उद्देश्य से लिखा गया है। इसको निवेश से जुड़ी, वित्तीय या दूसरी सलाह न माना जाए)

Times Now Navbharat पर पढ़ें Business News in Hindi, साथ ही ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें ।

Times Now Navbharat
Times now
zoom Live
ET Now
Mirror Now
Live TV
अगली खबर