Positive Pay क्या है? 1 सितंबर से बदल जाएगा चेक क्लियरिंग सिस्टम

भारतीय रिजर्व बैंक ने बैंकिंग धोखाधड़ी को रोकने के लिए पॉजिटिव पे सिस्टम लाया। जिसके तहत 1 सितंबर से चेक क्लियरिंग सिस्टम बदल जाएगा।

What is Positive Pay? cheque clearing system will change from 1 September
चेक से हो रही धोखाधड़ी रोकने के लिए नया सिस्टम 
मुख्य बातें
  • पॉजिटिव पे सिस्टम 1 जनवरी, 2021 से शुरू हुई।
  • चेक से हो रही धोखाधड़ी रोकने के लिए यह लाया गया।
  • एक्सिस बैंक 1 सितंबर से पॉजिटिव पे लागू करेगा।

नई दिल्ली: एक्सिस बैंक के ग्राहक के लिए महत्वपूर्ण खबर है। एक्सिस बैंक 1 सितंबर, 2021 से सकारात्मक वेतन प्रणाली (Positive pay system) लागू करेगा। एक्सिस बैंक ने अपने कई ग्राहकों को पॉजिटिव पे के कार्यान्वयन के बारे में एसएमएस के माध्यम से सूचित किया है।

पॉजिटिव पे क्या है?

पॉजिटिव पे सिस्टम 1 जनवरी, 2021 से शुरू हुई। भारतीय रिजर्व बैंक ने बैंकिंग धोखाधड़ी को रोकने के लिए 2020 में चेक के लिए 'positive pay system' शुरू करने का फैसला किया था, जिसके तहत 50,000 रुपए से अधिक के भुगतान के लिए कुछ प्रमख डिटेल की आवश्यकता हो सकती है।  जबकि इस सुविधा का लाभ खाताधारक के विवेक पर है, बैंक 5 लाख रुपए और उससे अधिक की राशि के चेक के मामले में इसे अनिवार्य बनाने पर विचार कर सकते हैं।

आरबीआई ने बैंकों को सलाह दी है कि वे एसएमएस अलर्ट, शाखाओं, एटीएम के साथ-साथ अपनी वेबसाइट और इंटरनेट बैंकिंग के माध्यम से positive pay system की विशेषताओं के बारे में अपने ग्राहकों के बीच जागरूकता पैदा करें।

positive pay system के बारे में यहां जानिए सबकुछ

  1. Positive Pay System 01 जनवरी, 2021 से लागू किया गया है।
  2. Positive Pay की अवधारणा में बड़े मूल्य के चेक के प्रमुख डिटेल की पुन: पुष्टि करने की प्रक्रिया शामिल है।
  3. इस प्रक्रिया के तहत, चेक जारीकर्ता एसएमएस, मोबाइल ऐप, इंटरनेट बैंकिंग, एटीएम आदि जैसे चैनलों के माध्यम से इलेक्ट्रॉनिक रूप से उस चेक के कुछ न्यूनतम डिटेल (जैसे तिथि, लाभार्थी/प्राप्तकर्ता का नाम, राशि, आदि) अदाकर्ता बैंक को जमा करता है। जिसका डिटेल सीटीएस द्वारा प्रस्तुत चेक से क्रॉस चेक किया जाता है।
  4. किसी भी विसंगति को सीटीएस द्वारा अदाकर्ता बैंक और प्रस्तुतकर्ता बैंक को सूचित किया जाता है, जो निवारण उपाय करेगा।
  5. भारतीय राष्ट्रीय भुगतान निगम (NPCI) सीटीएस में Positive Pay की सुविधा विकसित करेगा और इसे भागीदार बैंकों को उपलब्ध कराएगा।
  6. बदले में, बैंक 50,000 रुपए और उससे अधिक की राशि के चेक जारी करने वाले सभी खाताधारकों के लिए इसे सक्षम करेंगे।
  7.  सीटीएस ग्रिड में विवाद समाधान तंत्र के तहत केवल वही चेक स्वीकार किए जाएंगे जो निर्देशों का अनुपालन करते हैं।
  8. सदस्य बैंक सीटीएस के बाहर भी क्लियर किए गए/एकत्रित किए गए चेकों के लिए भी इसी तरह की व्यवस्था लागू कर सकते हैं।

Times Now Navbharat पर पढ़ें Business News in Hindi, साथ ही ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें ।

Times Now Navbharat
Times now
zoom Live
ET Now
ET Now Swadesh
Live TV
अगली खबर