Penny Drop Facility : पेनी ड्रॉप फैसिलिटी क्या है, यह कैसे काम करता है? NPS सब्सक्राइबर्स के लिए है महत्वपूर्ण

Penny Drop Facility : पीएफआरडीए ने नेशनल पेंशन सिस्टम (NPS)के सब्सक्राइबर्स के लिए एक महत्वपूर्ण पेनी ड्रॉप सुविधा शुरू की है। 

What is Penny Drop Facility, how does it work? Important for NPS Subscribers
पेनी ड्रॉप प्रोसेस से एनपीएस ग्राहकों को कई सुविधाएं मिलती हैं। 

मुख्य बातें

  • पीएफआरडीए ने नई सुविधा की शुरुआत की है।
  • इससे ग्राहकों के बैंक खाते का तुरंत सत्यापन किया जा सकता है।

Penny Drop Facility : पेंशन फंड रेगुलेटर और डवलपमेंट ऑथरिटी (पीएफआरडीए) निकासी प्रक्रिया के लिए समय पर क्रेडिट सुनिश्चित करने के लिए ग्राहकों के बैंक खाते को तुरंत सत्यापित करने की सुविधा शुरू की है। पीएफआरडीए रिटारयमेंट सेविंग स्कीम नेशनल पेंशन सिस्टम (NPS) को नियंत्रित करता है। पेनी ड्रॉप नामक सुविधा यह जांच करेगी कि क्या ग्राहक द्वारा प्रदान किया गया बैंक खाता विवरण मौजूद है और सक्रिय है। यह ग्राहक के बैंक खाते में 1 रुपए जमा करके किया जाता है।  यह सुविधा पेनी ड्रॉप (penny drop) नाम से जानी जाती है। यह ग्राहक द्वारा प्रदान किए गए बैंक खाता डिटेल मौजूद है और एक्टिव है।

यह फैसला रेगुलेटर द्वारा यह देखने के बाद लिया गया था कि कई ग्राहकों की निकासी राशि को कई वैलिड कारणों जैसे अमान्य खाता संख्या या खाता टाइप, अमान्य या गलत IFSC, बेमेल नाम, प्रीज या डोरमेंट अकाउंट, बंद या निष्क्रिय खाता होने के कारण उनके बचत बैंक खाते में जमा नहीं किया जा सका। 

उपरोक्त कारणों से असफल लेनदेन के कारण, सब्सक्राइबरों के लिए निर्धारित राशि को सेविंग बैंक खाते में जमा नहीं किया जा सकता है जब तक कि सब्सक्राइबर से सही खाता संख्या प्राप्त नहीं हो जाती है। इसे उपयुक्त टेक्निकल हस्तक्षेप या तत्काल बैंक खाता सत्यापन से दूर किया जा सकता है।

पेनी ड्रॉप सत्यापन ग्राहक द्वारा किए गए एग्जिट या निकासी अनुरोध के प्रोसेसिंग के समय किया जाएगा। 'सफलता' या 'विफलता' की प्रतिक्रिया तब सेवा प्रदाता द्वारा बचत बैंक खाता संख्या, सीआरए अकाउंट्स/रिकॉर्ड्स के अनुसार नाम के सत्यापन के आधार पर दी जाएगी।

सेंट्रल रिकॉर्ड कीपिंग एजेंसियां (CRA) पेनी ड्रॉप' प्रक्रिया के जरिये बचत बैंक खाते (एसबीए) की एक्टिव स्थिति की जांच करेंगी और एसबीए नंबर में ग्राहकों के नाम का मिलान PRAN (परमानेंट रिटायरमेंट अकाउंट नंबर) के नाम के साथ करेंगी। पेंशन रेगुलेटर ने सर्कुलर में कहा कि लाभार्थी के एसबीए में एक निश्चित राशि डालकर और पेनी ड्रॉप रिस्पॉन्स के आधार पर नाम का मिलान करके 'टेस्ट ट्रांजैक्शन' करके खाते की वैलिडिटी की पुष्टि की जाती है। रेगुलेटर ने CRA को जहां भी संभव हो, संस्थाओं के रिजस्ट्रेशन के लिए पेनी ड्रॉप प्रक्रिया का उपयोग करने की अनुमति दी है।

पेनी ड्रॉप विधि कैसे काम करेगी?

वर्तमान में, NPS योजना से बाहर निकलते समय या योजना से आंशिक निकासी के समय, ग्राहक या प्वाइंट ऑफ प्रेजेंस (पीओपी) बचत बैंक खाता संख्या और आईएफएससी कोड जैसे डिटेल का उल्लेख करके निकासी अनुरोध शुरू करते हैं जिसमें निकासी होती है। सीआरए सिस्टम में निकासी प्रक्रिया की पुष्टि और अधिकृत होने के बाद, ट्रस्टी बैंक द्वारा इलेक्ट्रॉनिक रूप से ग्राहक के बचत खाते में आय ट्रांसफर की जाती है।

ट्रांसफर करने से पहले, लाभार्थी के बैंक खाते में एक निर्दिष्ट राशि (आमतौर पर 1 रुपए) डालकर और पेनी ड्रॉप प्रतिक्रिया के आधार पर नाम का मिलान करके 'टेस्ट लेनदेन' करके खाते की वैलिडिटी को सत्यापित किया जाएगा। अगर प्रोसेसिंग के समय पेनी ड्रॉप फेल हो जाता है, तो ग्राहकों को बैंक खाता संख्या को सही करने और आवेदन को फिर से जमा करने के लिए सूचित किया जाएगा ताकि उनके निकासी अनुरोध को समयबद्ध तरीके से प्रोसेस्ड किया जा सके।

कितना है पेनी ड्रॉप वैरिफिकेशन चार्ज? 

पीएफआरडीए सर्कुलर के अनुसार, तत्काल बैंक खाते वैरिफिकेशन के उद्देश्य से सीआरए द्वारा एनपीएस ग्राहकों से एक छोटी राशि की वसूली की जाएगी। चार्ज स्ट्रैक्चर इस प्रकार है:-

के फिन टेक्नोलॉजीज प्राइवेट लिमिटेड (केसीआरए) -  1.90 रुपए + टैक्स

एनएसडीएल ई-गवर्नेंस इंफ्रास्ट्रक्चर प्राइवेट लिमिटेड (एनसीआरए) - 2.40 रुपए + टैक्स

यह राशि 1 रुपए के साथ पेनी ड्रॉप प्रक्रिया के हिस्से के रूप में लाभार्थी के बचत बैंक खाते में जमा किया गया।

Times Now Navbharat पर पढ़ें Business News in Hindi, साथ ही ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें ।

Times Now Navbharat
Times now
zoom Live
ET Now
ET Now Swadesh
Live TV
अगली खबर