तुलसी विवाह से शुरू होगा शादी का सीजन, सोने-चांदी की बढ़ेगी मांग

बिजनेस
आईएएनएस
Updated Nov 23, 2020 | 05:57 IST

तुलसी विवाह में कुछ ही दिन बचे है। तुलसी विवाह से शादी का सीजन शुरू होने से सोने-चांदी की मांग में इजाफा हो सकता है।

Wedding season will start with Tulsi marriage, demand for gold and silver will increase
तुलसी विवाह के साथ शादी का सीजन शुरू होने जा रहा है जिससे सोने-चांदी की मांग बढ़ सकती है।  |  तस्वीर साभार: BCCL

नई दिल्ली: अंतर्राष्ट्रीय बाजार से मिले कमजोर संकेतों से बीते सप्ताह घरेलू बाजार में सोने और चांदी के दाम में गिरावट दर्ज की गई। इसलिए इस सप्ताह गिरावट पर लिवाली बढ़ने की संभावना बनी हुई है, क्योंकि तुलसी विवाह के साथ देश में शादी का सीजन शुरू होने जा रहा है। बाजार के जानकार बताते हैं कि भाव ऊंचा होने के कारण कोरोना काल में सितंबर तक देश में पीली धातु की हाजिर मांग सुस्त रही, लेकिन धनतेरस और दिवाली के शुभ मुहूर्त में जोरदार खरीदारी हुई उसके बाद बीते सप्ताह बाजार में छुट्टी का माहौल बना रहा, लेकिन इस सप्ताह महंगी धातुओं में लिवाली फिर लौटेगी।

इस सप्ताह बुधवार को तुलसी विवाह है, जिसके बाद देश में शादी का सीजन शुरू हो जाएगा। कार्तिक शुक्ल पक्ष की एकादशी तिथि को तुलसी विवाह का त्योहार मनाया जाता है, जिसके बाद देश में सभी प्रकार के मांगलिक कार्य शुरू हो जाते हैं।कारोबारी बताते हैं कि देश में सोने के बिना कोई शादी संपन्न नहीं होती है, इसलिए शादी का सीजन शुरू होने से पीली धातु में लिवाली आने वाले दिनों में बढ़ेगी।

इंडिया बुलियन एंड ज्वेलर्स एसोसिएशन के नेशनल सेक्रेटरी सुरेंद्र मेहता कहते हैं कि शादी का सीजन शुरू होने से सोने की खरीदारी आगे बनी रहेगी। खासतौर से भाव में गिरावट पर लिवाली जोर पकड़ेगी।मल्टी कमोडिटी एक्सचेंज यानी एमसीएक्स पर दिवाली के दिन मुहूर्त ट्रेडिंग के दौरान सोना 50,900 रुपये प्रति 10 ग्राम के ऊपर बंद हुआ था, जहां करीब 700 रुपये से टूटकर बीते शुक्रवार को 50,200 के करीब बंद हुआ।

एमसीएक्स पर चांदी के भाव में भी बीते सप्ताह करीब 1,500 रुपये प्रति किलो की गिरावट दर्ज की गई।केडिया एडवायजरी के डायरेक्टर अजय केडिया कहते हैं, "अमेरिका में कोरोना के कहर से निपटने के लिए राहत पैकेज की उम्मीदों से सोने के भाव को सपोर्ट मिलेगा जबकि कोरोना वैक्सीन आने की आशा बढ़ने से महंगी धातुओं के भाव पर दबाव रहेगा।" ऐसे में घरेलू वायदा एवं हाजिर बाजार में सोने और चांदी का भाव अंतर्राष्ट्रीय बाजार के रुखों से तय होगा मगर, कारोबारी बताते हैं कि मौजूदा भाव पर सोने और चांदी में लिवाली बनी रहेगी।

Times now
Mirror Now
ET Now
zoom Live
Live TV
अगली खबर