Real Estate: रीयल एस्टेट इनवेस्टमेंट ट्रस्ट सफल, दूसरे बिल्डर भी होंगे प्रोत्साहित, जानें एक्सपर्ट्स की राय

बिजनेस
भाषा
Updated Aug 07, 2020 | 19:41 IST

Real Estate investment Market: रीयल एस्टेट इनवेस्टमेंट ट्रस्ट का मकसद किराये वाली संपत्ति को बाजार पर चढ़ाकर निवेश आकर्षित करना है।

Second real estate investment trust is successful, other builders will also be encouraged, know expert's opinions
दूसरा रीयल एस्टेट इनवेस्टमेंट ट्रस्ट सफल 

Real Estate investment Market : देश का 4,500 करोड़ रुपए का दूसरा रीट (रीयल एस्टेट इनवेस्टमेंट ट्रस्ट) सफल रहा और शेयर बाजार में शुक्रवार को पहले दिन के कारोबार में यह 10% प्रीमियम के साथ बंद हुआ। विशेषज्ञों का कहना है कि इसे देखते हुए दूसरे बिल्डर भी किराये वाली अपनी संपत्ति का लाभ उठाने के लिए पैसा जुटाने को लेकर इस रास्ते का चयन करने के लिए प्रोत्साहित होंगे। उनका कहना है कि भविष्य में जारी होने वाले रीट में खुदरा निवेशकों की भी भागीदारी बढ़ेगी। इससे वे निवेश के जरिये पूर्ण रूप से पट्टे पर दी जाने वाली संपत्ति और सूचीबद्ध वाणिज्यिक रीयल एस्टेट से लाभांश आय अर्जित कर सकेंगे।

के रहेजा और ब्लैकस्टोन की माइंडस्पेस बिजनेस पार्क्स रीट शुक्रवार को बाजार में निर्गम मूल्य 275 रुपये प्रति यूनिट के मुकाबले करीब 11% प्रीमियम के साथ सूचीबद्ध हुआ और कारोबार की समाप्ति पर 10% से कुछ ऊपर रहकर बंद हुआ। यह देश का दूसरा रीट है। इससे पहले, पिछले साल अप्रैल में एम्बैसी ऑफिस पार्क्स सूचीबद्ध हुआ था। इसके जरिये 4,750 करोड़ रुपये जुटाये गये थे।

सूचीबद्धता के बारे में ब्लैकस्टोन के मुख्य परिचालन अधिकारी जोनाथन ग्रे ने कहा कि ब्लैकस्टोन देश के दूसरे रीट को लाने में रहेजा के साथ भागीदारी कर सम्मानित महसूस कर रही है। माइंडस्पेस के पास अच्छी संपत्ति है और शेयरधारकों के मूल्य को सृजित करने के लिये प्रतिबद्ध है।

इस बारे में एनारॉक के चेयरमैन अनुज पुरी ने कहा कि रीट उन निवेशकों के लिए अच्छी खबर है जो छोटी राशि के जरिए अधिक लागत वाले वाणिज्यिक रीयल एस्टेट बाजार में निवेश करना चाहते हैं। रीट के जरिये वे वाणिज्यिक रीयल एस्टेट में निवेश कर सकते हैं।

नाइट फ्रैंक इंडिया के चेयरमैन और प्रबंध निदेशक शिशिर बैजल ने कहा कि यह वाणिज्यिक रीयल एस्टेट संपत्ति के लिये अच्छा संकेत है। यह बताता है कि बाजार और निवेशकों को दीर्घकाल को लेकर भरोसा है। उन्होंने कहा कि रीट के जरिये खुदरा निवेशक वाणिज्यिक संपत्ति में निवेश कर सकते हैं और इसमें भागीदारी कर सकते हैं।

मोतीलाल ओसवाल रीयल एस्टेट फंड के मुख्य कार्यपालक अधिकारी शरद मित्तल ने कहा कि माइंडस्पेस रीट की 11% प्रीमियम के साथ सूचीबद्धता यह बताती है कि रीट जैसे संतुलित उत्पाद को संस्थागत और खुदरा निवेशक दोनों तरजीह दे रहे हैं।

मित्तल के अनुसार सूचीबद्धता को देखते हुए कहा जा सकता है कि भविष्य में जारी होने वाले रीट में खुदरा निवेशकों की भी भागीदारी बढ़ेगी। उन्होंने कहा कि हाल में वाणिज्यिक रीयल एस्टेट क्षेत्र में धारणा कमजोर रही है। इसके बावजूद मजबूत किराये वाली संपत्ति के साथ माइंडस्पेस रीट को खुदरा निवेशकों से समर्थन मिला है।

रीयल एस्टेट इनवेस्टमेंट ट्रस्ट का मकसद किराये वाली संपत्ति को बाजार पर चढ़ाकर निवेश आकर्षित करना है। दुनिया के कई देशों में यह रीयल एस्टेट में निवेश और पैसा जुटाने का एक लोकप्रिय माध्यम है। भारत में इसे कुछ साल पहले पेश किया गया। इसके जरिये निवेशक छोटी राशि के माध्यम रीयल एस्टेट में निवेश कर सकते हैं और लाभांश आय प्राप्त कर सकते हैं।

Times now
Mirror Now
ET Now
zoom Live
Live TV
अगली खबर