रिटायरमेंट के बाद चाहते हैं चिंतामुक्त जीवन! होल लाइफ यूलिप्स का करें चुनाव

बिजनेस
Updated Nov 06, 2019 | 16:55 IST | टाइम्स नाउ डिजिटल

Retirement Tips: रिटायरमेंट के बाद चिंतामुक्त जीवन कौन नहीं चाहता, लेकिन इसके लिए जीवन के शुरुआती दौर में सही फैसले लेने की जरूरत होती है। जानिए आपको ऐसे जीवन के लिए क्या करना चाहिए।

Retirement Tips
Retirement Tips: रिटायरमेंट की करें कुछ ऐसी तैयारी  |  तस्वीर साभार: Getty Images

वो दिन गए जब 60 की उम्र में रिटायर होने का विचार जीवन की संतोषजनक उपलब्धि जैसा लगता था। आजकल तो रिटायर जीवन काफी अधिक सक्रिय होने लगा है। अब लोग पहले की तुलना में काफी अलग तरह से रिटायर होते हैं और उनके मन में रिटायरमेंट जीवन के लिए काफी उत्साहजनक और आकर्षक चित्र भी होता है। 

पुराने दिनों में तो लोग अपने सामाजिक सुरक्षा लाभों और पेंशन के भरोसे जीवन बिता लेते थे। लेकिन अब यह बात लागू नहीं होती है क्योंकि आजकल लोग अपनी रिटायरमेंट जीवनशैली का खर्च उठाने के लिए सिर्फ अपने सामाजिक सुरक्षा लाभों पर पूरी तरह निर्भर नहीं होते। वर्तमान दौर में रिटायरमेंट के बाद भी एक व्यक्ति को स्थाई आमदनी की जरूरत पड़ती है और यह जरूरत अतिरिक्त मेडिकल बिलों की मौजूदगी में बढ़ भी सकती है। 

चाहे आप जीवन के नए उद्देश्य पूरे करना चाहते हों या एक आरामदायक और सुकूनभरा जीवन बिताना चाहते हैं, इसके लिए पर्याप्त आर्थिक सहारा बेहद जरूरी है। इससे आपको एक नियमित आमदनी मिलती है, जो आपके मेडिकल बिलों, रोजमर्रा के खर्चों की पूर्ति करती है और यह भी सुनिश्चित करती है कि आप अपना जीवन स्तर बरकरार रख सकें।  

हालांकि, इस स्थिति को हासिल करने के लिए सबसे बड़ी कमी यही रह जाती है कि हम पहले से इसके लिए योजना नहीं बनाते। एक तनाव मुक्त रिटायरमेंट जीवन सुनिश्चित करने के लिए जरूरी योजना काफी पहले से बनाना होगा। अपने करियर के शुरुआती दौर में ही रिटायरमेंट की योजना बनाने से आपको इतनी बड़ी पूंजी जुटाने में मदद मिलेगी कि आप रिटायर होने के बाद भी नियमित आमदनी हासिल कर सकें।

money

आवश्यक सुविधाओं वाला एक पेंशन प्लान खरीदने से आप इसका रिटायरमेंट कवरेज और इसके लाभ हासिल कर सकेंगे। ऐसी ही जरूरत के लिए आधुनिक होल लाइफ यूलिप्स आपकी मदद कर सकता है। आइये जानते हैं कि यह कैसे काम करता है। 

क्या होता है यूलिप्स?

होल लाइफ यूलिप्स इन्वेस्टमेंट लिंक्ड इंश्योरेंस प्लान होते हैं, जो सुरक्षा के साथ निवेश लाभ भी पेश करते हैं। यह दोनों फायदे आपको 99 से 100 वर्ष की उम्र तक मिलेंगे। यह ऐसे प्लान होते हैं जो ना सिर्फ आपकी पॉलिसी के लाभार्थियों को मृत्यु लाभ प्रदान करते हैं, बल्कि आपके रिटायरमेंट के दौरान आपके रोजमर्रा के जीवन की जरूरतें भी पूरी करते हैं।

होल लाइफ यूलिप्स में आप 18 से 100 वर्ष की उम्र के बीच कभी भी प्रवेश कर सकते हैं और किसी भी उम्र में इनसे बाहर भी निकल सकते हैं। आप यह भी तय कर सकते हैं कि कितनी उम्र तक आपको पैसे बचाने, या जुटाने हैं। यह काम आप अपने रिटायर होने तक कर सकते हैं। लेकिन होल लाइफ यूलिप्स प्लान में भी 5 वर्ष की लॉक-इन अवधि रहेगी जिसके बाद आप अपनी पूंजी एक सिस्टमैटिक विदड्रॉल प्लान के जरिये बाहर निकाल सकते हैं, जो कि आपके रिटायरमेंट जीवन में एक नियमित आमदनी का काम करेगी।

लोगों को होल लाइफ यूलिप्स एवं इसके विभिन्न फायदे पेश करने वाली कुछ कंपनियां हैं बजाज एलायंज – लॉन्गलाइफ गोल, एचडीएफसी लाइफ– क्लिक2वेल्थ, कैनरा एचएसबीसी ओरियंटल – इन्वेस्ट 4जी – होल लाइफ।

money

होल लाइफ यूलिप्स के फायदे विस्तार से जानिये

मृत्यु लाभ

अपने निवेश पोर्टफोलियो में होल लाइफ यूलिप्स रखने का प्रमुख फायदा यह है कि आपको 99 वर्ष की उम्र तक लाइफ कवर मिलता है, जिससे पॉलिसीधारक या बीमा सुरक्षा प्राप्त व्यक्ति के परिवार के लिए लंबी अवधि तक सुरक्षा सुनिश्चित होती है। बीमा सुरक्षा प्राप्त व्यक्ति की मृत्यु होने की दुर्भाग्यपूर्ण स्थिति में उसके परिवार को आर्थिक मुआवजा प्रदान किया जाता है।

यह मुआवजा बीमित व्यक्ति द्वारा कमाई जाने वाली आमदनी के नुकसान के एवज में दिया जाता है। इसका मतलब यह हुआ कि यह प्लान जीवन भर के लिए जोखिम कवरेज देता है और आपकी पॉलिसी की कोई एक्सपायरी डेट नहीं होती। आपकी मृत्यु कभी भी हो, आपके लाभार्थियों को कुल सम एश्योर्ड यानी बीमा राशि मिलना निश्चित है।  

आंशिक/पूर्ण निकास सुविधा (टैक्स मुक्त)

यह सुविधा खासतौर पर आपको किसी भी तत्काल आर्थिक जरूरत को पूरा करने लिए धन निकासी की सुविधा देने के लिए तैयार की गई है। फिर चाहे यह जरूरत आपके बच्चे की उच्च शिक्षा हो या फिर उसकी शादी। लेकिन इस सुविधा का लाभ पॉलिसी के 5 वर्ष पूरे होने के बाद ही उठाया जा सकता है। यह अवधि पूरी होने के बाद आप चाहे जितनी बार आंशिक निकासी करें या अपनी जरूरत के हिसाब से पूरी राशि एक बार में भी निकाल सकते हैं। इसके साथ ही आपके द्वारा निकाली गई पूरी राशि टैक्स मुक्त होती है यानी आपके रिटायर होने के बाद आपको टैक्स मुक्त आमदनी मिलेगी।  

परिपक्वता लाभ

आपके रिटायरमेंट पर मिलने वाला इसका परिपक्वता लाभ पूरी तरह से उस बात पर निर्भर करेगा कि आपने यह पॉलिसी किस उम्र में शुरू की है। उदाहरण के लिए, अगर आप 60 की उम्र में लगभग 5 करोड़ की पूंजी जुटाना चाहते हैं, तो आपको 35 वर्ष की उम्र तक होल लाइफ यूलिप्स में निवेश शुरु करना होगा।

इसके बाद आपको 60 वर्ष की उम्र तक रु. 28000 प्रति माह निवेश करने की जरूरत होगी। पॉलिसी के परिपक्व होने पर, आपको फंड वैल्यू के साथ अगर कोई टॉप-अप फंड वैल्यू है, तो वह भी मिलेगा। फिर आपके पास यह परिपक्वता लाभ एकमुश्त या सेटलमेंट ऑप्शन का इस्तेमाल करते हुए व्यवस्थित भुगतान के रूप में लेने का विकल्प होगा। 

money

आधुनिक यूलिप्स में बेहद कम चार्जेस होते हैं

इसका यह मतलब हुआ कि होल लाइफ यूलिप्स में निवेश शुरू करने से पहले आपके इससे जुड़े कुछ शुल्कों को ध्यान में रखना होगा। यह शुल्क पॉलिसी की पूरी अवधि के दौरान चुकाए जा सकते हैं और अपने लिए सबसे उपयुक्त यूलिप्स इंश्योरेंस ले सकते हैं।

यूलिप्स में चार प्रमुख शुल्क लिये जाते हैं – प्रीमियम एलोकेशन चार्ज, फंड मैनेजमेंट चार्ज, पॉलिसी एडमिनिस्ट्रेशन चार्ज और मॉर्टेलिटी चार्ज। आईआरडीएआई के नए दिशानिर्देशों के बाद अब यह शुल्क लगाए जाने के तरीकों में कुछ बदलाव हुए हैं। ऑनलाइन मार्केट में यूलिप्स लॉन्च होने के बाद प्रीमियम एलोकेशन और पॉलिसी एडमिनिट्रेशन चार्जेस लिये जाते और इस खरीदारी में कोई मध्यस्थ या एजेंट बीच में नहीं होता।

इसके अलावा, परिपक्वता तिथि पर पॉलिसी में से काटे गए मॉर्टेलिटी चार्जेस और पॉलिसी एडमिनिस्ट्रेशन चार्जेस की कुल राशि फंड वैल्यू में जोड़ दी जाती है। लेकिन इसके लिए सभी प्रीमियम चुकाने जरूरी हैं। आपसे लिये गये इन दोनों चार्जेस की राशि को प्लान के फंड्स में बराबर अनुपात में आवंटित कर दिया जाएगा। इसमें आपसे लिये गए कोई अतिरिक्त मॉर्टेलिटी चार्जेस और इन चार्जेस पर मौजूदा टैक्स नियमों के हिसाब से लगाए गए टैक्स शामिल नहीं होंगे। इसके साथ, यूलिप्स प्लान पर समय के साथ फंड मैनेजमेंट चार्जेस भी 1.35% प्रति वर्ष तक सीमित कर दिये गये हैं। 

किसी भी वक्त पेंशन राशि बढ़ाने/घटाने की छूट

आपकी जरूरतों के हिसाब से या फिर किसी वित्तीय इमरजेंसी के वक्त आप कभी भी अपनी पेंशन को बढ़ा या घटा सकते हैं। यह उन लोगों के लिए एक खास फायदा है जो जीवन में बाद के चरणों में थोड़ी अतिरिक्त सुविधा चाहते हैं। हालांकि, अगर आप अपने रिटायरमेंट के लिए लाइफ इमिडियेट एन्युइटी जैसे पेंशन प्रोडक्ट्स चुनते हैं, तो आपके पास होल लाइफ यूलिप्स की तरह अपनी पेंशन घटाने या बढाने का विकल्प नहीं होगा। 

(इस लेख के लेखक संतोष अग्रवाल, चीफ बिजनेस ऑफिसर - लाइफ इंश्योरेंस, पॉलिसीबाज़ार.कॉम)

(डिस्क्लेमर: यह जानकारी एक्सपर्ट की रिपोर्ट के आधार पर दी जा रही है। बाजार जोखिमों के अधीन होते हैं, इसलिए निवेश के पहले अपने स्तर पर सलाह लें।)

अगली खबर
रिटायरमेंट के बाद चाहते हैं चिंतामुक्त जीवन! होल लाइफ यूलिप्स का करें चुनाव Description: Retirement Tips: रिटायरमेंट के बाद चिंतामुक्त जीवन कौन नहीं चाहता, लेकिन इसके लिए जीवन के शुरुआती दौर में सही फैसले लेने की जरूरत होती है। जानिए आपको ऐसे जीवन के लिए क्या करना चाहिए।
loadingLoading...
loadingLoading...
loadingLoading...