आरबीएल बैंक का मुनाफा 41 फीसदी बढ़ा फिर भी शेयर में भारी गिरावट

बिजनेस
Updated Jul 19, 2019 | 16:24 IST | टाइम्स नाउ डिजिटल

आरबीएल बैंक के शेयर में आज भारी गिरावट दर्ज की गई। बैंक के नतीजे आज घोषित हुए। आरबीएल बैंक के मुनाफे में भारी बढ़ोतरी हुई लेकिन बैंक का शेयर गिर गया। यहां जानिए बैंक के साथ क्या दिक्कत हुई।

RBL Bank
आरबीएल बैंक के शेयर में गिरावट।  |  तस्वीर साभार: BCCL

नई दिल्ली: आरबीएल बैंक का शेयर आज 13.76 फीसदी गिर गया। बैंक का शेयर 80 रुपए गिरकर 500 रुपए के लेवल पर पहुंच गया। बैंक ने पहली तिमाही के नतीजे जारी किए हैं। इसमें बैंक का मुनाफा 41 फीसदी तेज होकर 267.1 करोड़ रुपए पहुंच गया। पिछले साल की इसी तिमाही में बैंक को 190 करोड़ रुपए का मुनाफा हुआ।

इतने शानदार नतीजों के बाद भी बैंक के शेयर में बड़ी गिरावट आ गई। जानकारों के मुताबिक बैंक ने ऐसी कुछ कंपनियों को कर्ज दे रखा है जो एनपीए बन सकता है। बैंक की ब्याज से शुद्ध आय 48 फीसदी, अन्य आय 48 फीसदी और ऑपरेटिंग मुनाफा 43 फीसदी बढ़ गया।

आरबीएल बैंक की पहली तिमाही में प्रोविजनिंग 51.8 फीसदी बढ़कर 213.1 करोड़ रुपए हो गई। पिछले साल इसी तिमाही में बैंक ने 140.3 करोड़ रुपए की प्रोविजनिंग की थी। इसी प्रोविजनिंग पर जानकारों को चिंता है।

आरबीएल बैंक के एमडी और सीईओ विश्वविर आहुजा के मुताबिक बैंक के लिए तिमाही अच्छी रही आगे भी ऑपरेटिंग के मोर्चे पर अच्छी उम्मीद है। उन्होंने कहा कि छोटी अवधि में हमे कुछ एक्सपोजर पर चुनौतियों का सामना करना पड़ सकता है।

उनके मुताबिक कॉर्पोरेट अकाउंट में कुछ स्लिपेज के कारण क्रेडिट कॉस्ट 0.35 से 0.40 फीसदी बढ़ सकती है। बैंक अगले 9 महीनों में एनपीए कैटेगरी में कुछ कॉर्पोरेट अकाउंट के स्लिपेज को लेकर सर्तक है। उनके मुताबिक कुछ स्लिपेज के कारण एनपीए बढ़ सकता है। स्लिपेज का अर्थ है बैंक से कर्ज लेने वाली कंपनियों का डिफॉल्ट करना। बैंक का एनआईएम 4.04 फीसदी से बढ़कर पहली तिमाही में 4.31 फीसदी हो गया।

इस तिमाही में बैंकों की हालत कमजोर लग रही है। यस बैंक के नतीजे भी बाजार की उम्मीद के मुताबिक नहीं रहे। यस बैंक को 113 करोड़ रुपए का मुनाफा हुआ था। हालांकि एनपीए बढ़ने के कारण बैंक के शेयर की पिटाई हो गई।

Times Now Navbharat पर पढ़ें Business News in Hindi, साथ ही ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें ।

Times Now Navbharat
Times now
zoom Live
ET Now
ET Now Swadesh
Live TV
अगली खबर