आलू की किल्लत, इस देश में McDonald's ने फ्रेंच फ्राइज की बिक्री पर लगाया ब्रेक!

बिजनेस
डिंपल अलावाधी
Updated Dec 23, 2021 | 15:19 IST

McDonald's Japan: मैकडॉनल्ड्स दुनियाभर में सबसे बड़ी फास्ट फूड रेस्टोरेंट चेन में शुमार है। जापान में ग्राहकों को मैकडॉनल्ड्स अगले कुछ दिनों के लिए फ्रेंच फ्राइज की केवल छोटी सर्विंग्स उपलब्ध कराएगा।

McDonald's french fries
इस देश में McDonald's ने फ्रेंच फ्राइज की बिक्री पर लगाया ब्रेक (Pic: iStock) 
मुख्य बातें
  • आलू की कमी को देखते हुए मैकडॉनल्ड्स ने जापान में बड़ा कदम उठाया है।
  • जापान में ग्राहकों को 30 दिसंबर तक फ्रेंच फ्राइज की सिर्फ छोटी सर्विंग्स उपलब्ध होंगी।
  • ग्राहकों ने सोशल मीडिया पर इस खबर पर प्रतिक्रिया व्यक्त की है।

McDonald's Japan: मैकडॉनल्ड्स (McDonald's) दुनिया की सबसे बड़ी फास्ट फूड रेस्टोरेंट चेन में शुमार है। अपने बर्गर (McDonald's Burger) और फ्रेंच फ्राइज (McDonald's french fries) की वजह से यह पूरी दुनिया में फेमस है। कंपनी के हर विज्ञापन में उसके फ्रेंच फ्राई जरूर दिखते हैं क्योंकि यह लोगों को खूब पसंद हैं। लेकिन अब मैकडॉनल्ड्स जापान में आलू के शिपमेंट में देरी के कारण फ्रेंच फ्राइज की बिक्री को अस्थायी रूप से सीमित कर रहा है।

कंपनी ने एक प्रेस विज्ञप्ति में कहा कि, 'कोरोना वायरस महामारी (Coronavirus) की वजह से और कनाडा में आई बाढ़ की वजह से जापान में आलू का आयात प्रभावित हुआ है।' इसके कारण जापान में आलू की बड़ी दिक्कत हो गई है और कि मैकडॉनल्ड्स को आलू नहीं मिल पा रहा है।

30 दिसंबर तक मिलेंगी सिर्फ छोटी सर्विंग्स
इसकी वजह से 24 दिसंबर से 30 दिसंबर तक जापान में ग्राहकों के लिए फ्रेंच फ्राइज की केवल छोटी सर्विंग्स उपलब्ध होंगी। कंपनी की प्रेस विज्ञप्ति में कहा गया है कि इस अवधि के दौरान मीडियम और लार्ज सर्विंग्स की बिक्री नहीं की जाएगी।

मैकडॉनल्ड्स जापान के मुख्य कार्यकारी अधिकारी (CEO) Tamotsu Hiiro के अनुसार, कंपनी कनाडा में Vancouver के पास एक बंदरगाह के माध्यम से उत्तरी अमेरिका से बड़े पैमाने पर आलू का आयात करती है। उन्होंने कहा कि वैश्विक वितरण नेटवर्क में 'बाढ़ क्षति' और कोरोना वायरस से संबंधित व्यवधान के कारण आयात में देरी हुई थी।' मैकडॉनल्ड्स जापान ने कहा कि, 'हम सभी से इस असुविधा के लिए क्षमा चाहते हैं।'

ग्राहकों की प्रतिक्रिया
ग्राहकों ने सोशल मीडिया पर इस खबर पर प्रतिक्रिया व्यक्त की। एक उपयोगकर्ता ने ट्वीट किया कि, '2021 का वास्तव में विनाशकारी अंत।' एक अन्य यूजर ने ट्वीट किया कि, 'आलू की कमी - दो शब्दों की डरावनी कहानी।'

Times Now Navbharat पर पढ़ें Business News in Hindi, साथ ही ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें ।

Times Now Navbharat
Times now
zoom Live
ET Now
ET Now Swadesh
Live TV
अगली खबर