रिटायरमेंट लाइफ की प्लानिंग कर रहे हैं? SCSS या PMVVY स्कीम, जानिए कौन है आपके लिए बेहतर

हर कोई रिटायर होने के बाद अपने जीवन को आरामदायक बनाने के लिए प्लानिंग करते हैं। तो यहां जानिए सीनियर सिटिजन सेविंग स्कीम या प्रधानमंत्री वय वंदना योजना में से कौन आपके लिए बढ़िया है।

Planning for retirement life? Senior Citizen Savings Scheme or PMVVY scheme, know which is better for you
सीनियर सिटिजन के लिए स्कीम्स 

सीनियर सिटीजन इस रेपो रेट में कटौती का सबसे बड़ा शिकार बन गए हैं क्योंकि बैंक एफडी की दरों में कमी आई है। जैसा कि सीनियर सिटिजन मुख्य रूप से ब्याज आय पर निर्भर हैं। उसकी आय पिछले एक साल में 30% तक गिर गई है, जिससे उनके खर्चों को मैनेज करना मुश्किल हो गया है। ऐसी स्थिति में सीनियर सिटजन्स को यह सुनिश्चित करने की जरुरत है कि उनका पैसा जरुरतों के उपयोग के लिए रखा जाए।

प्रधानमंत्री वय वंदना योजना (पीएमवीवीवाई) और सीनियर सिटिजन बचत योजना (एससीएसएस) वरिष्ठ नागरिकों के लिए बेहतर आय विकल्प हैं। केंद्र सरकार दोनों स्कीम्स को सपोर्ट करती है, और वे अन्य सुरक्षित विकल्पों की तुलना में लॉन्ग टर्म में बेहतर रिटर्न देते हैं। दोनों स्कीम उन लोगों के लिए हैं जो 60 साल और ऊपर के हैं। एससीएसएस कुछ मामलों में आयु में छूट प्रदान करता है। उदाहरण के लिए, 55 वर्ष से अधिक और 60 वर्ष से कम आयु के रिटायर्ड कर्मचारी इसमें निवेश कर सकते हैं, इस शर्त के तहत कि रिटायरमेंट के लाभों की प्राप्ति के एक महीने के भीतर निवेश किया जाना चाहिए।

वरिष्ठ नागरिक बचत योजना ( SCSS)

देश का कोई भी नागरिक 1,000 रुपए के गुणक में एससीएसएस में अधिकतम 15 लाख रुपए का निवेश कर सकता है। इस स्कीम में ब्याज प्रत्येक तिमाही में देय है, इसलिए यह नियमित आय की आवश्यकता को पूरा कर सकता है। एससीएसएस खाता 5 साल में मैच्योर होता है जिसके बाद कोई भी इसे तीन साल के ब्लॉक के लिए एक बार बढ़ा सकता है। 

स्मॉल सेविंग स्कीम्स की ब्याज दरों में बड़ी कटौती के बावजूद, एससीएसएस अभी भी जुलाई-सितंबर तिमाही के लिए 7.4% की दर की पेशकश कर रहा है, जो वरिष्ठ नागरिकों के लिए उपलब्ध किसी भी अन्य फिक्स्ड-रिटर्न स्कीम से बहुत अधिक है। एससीएसएस में, वरिष्ठों को पूर्व-बंद करने के लिए जुर्माना देना होगा। एससीएसएस धारा 80 सी के तहत टैक्स कटौती के लिए योग्य है। एससीएसएस से प्राप्त ब्याज आय धारा 80टीटीबी के तहत टैक्स कटौती के लिए योग्य है। सेक्शन के अनुसार, कोई वरिष्ठ नागरिक फिक्स्ड डिपॉजिट (पात्र बैंकों से) से अर्जित 50,000 रुपए की ब्याज आय में कटौती प्राप्त कर सकता है।

प्रधानमंत्री वय वंदना योजना (PMVVY)

प्रधानमंत्री वय वंदना योजना पेंशन स्कीम में 10 वर्ष की पॉलिसी अवधि होती है और पेंशनर मासिक, त्रैमासिक, अर्धवार्षिक, या वार्षिक रूप से पेंशन का विकल्प चुन सकता है। अब, प्रधानमंत्री वय वंदना योजना (PMVVY) में ब्याज एसबीआई द्वारा प्रस्तावित फिक्स्ड डिपॉजिट योजना से अधिक है। योजना मासिक ब्याज भुगतान मोड में 7.40% के रिटर्न की सुनिश्चित दर प्रदान करेगी। अगर आप वित्तीय वर्ष में इस पेंशन योजना में निवेश करते हैं, तो 7.40% रिटर्न 10 साल की पूरी अवधि के लिए लॉक-इन होगा।

कोई भी व्यक्ति जो 60 वर्ष या उससे अधिक आयु का है, प्रधानमंत्री वय वंदना योजना (PMVVY) योजना का लाभ उठा सकता है। इस योजना में अधिकतम स्वीकृत निवेश 15 लाख रुपए है। इस पेंशन योजना की मार्केटिंग भारतीय जीवन बीमा कार्पोरेशन द्वारा किया जाता है। मैच्योरिटी से पहले खातों को बंद किया जा सकता है। PMVVY में कोई वरिष्ठ नागरिक को खरीद मूल्य का 98% मिलता है। PMVVY के तहत कोई टैक्स कटौती उपलब्ध नहीं है। पीएमवीवीवाई से भुगतान भी टैक्स योग्य है। ज्यादातर पहलुओं में, SCSS PMVVY से अधिक लाभकारी है। 

Times Now Navbharat पर पढ़ें Business News in Hindi, साथ ही ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें ।

Times Now Navbharat
Times now
zoom Live
ET Now
Mirror Now
Live TV
अगली खबर