IRCTC: यात्रियों को मिलेगी राहत, इस तारीख से पहले बुक हुए टिकटों को रद्द कराने पर रेलवे देगी पूरा पैसा

Indian Railways: भारतीय रेलवे द्वारा रद्द की गई सभी ट्रेनों की वापसी स्वचालित रूप से शुरू की जाएगी। वहीं रेलवे ने हमेशा यात्रियों को अपने टिकट रद्द न करने की सलाह दी है।

Indian Railways
इस तारीख से पहले बुक किए गए टिकटों का पूरा पैसा देगी रेलवे 

मुख्य बातें

  • इस तारीख से पहले बुक हुए टिकटों को रद्द कराने पर पूरा पैसा देगी रेलवे
  • लॉकडाउन की वजह से सभी ट्रेनों को 25 मार्च से रद्द कर दिया गया था।
  • यात्रा करने वाले लोग इन बातों का खास ध्यान रखें

भारतीय रेलवे ने 14 अप्रैल, 2020 को या उससे पहले बुक किए गए सभी ट्रेन टिकटों के पैसे पूरा वापस करने का फैसला किया है। अगर किसी यात्री ने 14 अप्रैल 2020 और उससे 120 दिन पहले के लिए ट्रेन का टिकट बुक किया है और ट्रेन रद्द कर दी गई है, तो ऐसी स्थिति में उन यात्रियों को पूरा रिफंड मिलेगा। आईआरसीटीसी ने यात्रियों को यह सलाह दी है कि वे अपने ट्रेन की टिकट को कैंसिल न करें। वहीं आईआरसीटीसी के अनुसार, भारतीय रेलवे द्वारा सिस्टम में ट्रेन को रद्द करने के बाद ऑटोमेटिक फुल रिफंड शुरू किया जाएगा। 

कोरोना वायरस के फैलते प्रकोप की वजह देशभर में लागू लॉकडाउन के कारण सभी नियमित ट्रेनों को 25 मार्च से रद्द कर दिया गया था। आईआरसीटीसी ने 15 अप्रैल से नियमित ट्रेनों के एडवांस में किए गए रिजर्वेशन को निलंबित किया था। बता दें कि 230 स्पेशल ट्रेनें विशेष रूट्स पर चलती रहेंगी। तत्काल यात्रा के लिए फंसे हुए नागरिकों की आवाजाही के लिए विशेष ट्रेन सेवा शुरू की गई है। जबकि शुरुआत में 30 राजधानी जैसी एसी ट्रेनों को शुरू की गई थी। बाद में आईआरसीटीसी ने 1 जून से नॉन-एसी के साथ-साथ 200 अन्य ट्रेनों को चलाया जा रहा है।

टिकट आईआरसीटीसी की वेबसाइट या मोबाइल ऐप से, रेलवे स्टेशन के आरक्षण काउंटरों या डाकघरों में बुक किए जा सकते हैं। वर्तमान में चल रही विशेष ट्रेन सेवाएं सभी पूरी तरह से आरक्षित सेवाएं हैं और इनमें वेटलिस्ट टिकट सीमित हैं। स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्रालय द्वारा निर्धारित सामाजिक सुरक्षा प्रोटोकॉल का सख्ती से पालन करने वाले यात्रियों को रेलवे स्टेशनों पर थर्मल स्क्रीनिंग से गुजरना पड़ता है।

यात्रा करने वाले लोग इन बातों का खास ध्यान रखें

  • डेस्टिनेशन राज्य की क्वारंटाइन और प्रविष्टि प्रोटोकॉल की जांच करें।
  • अगर आप अनजान हैं, तो आप डेस्टिनेशन पर पहुंचने पर भ्रम की स्थिति पैदा हो सकती है।
  • सोशल डिस्टेंसिंग प्रोटोकॉल लागू होने के बाद, केवल उन्हीं यात्रियों को कन्फर्म टिकट के साथ रेलवे स्टेशनों में प्रवेश करने की अनुमति होगी।
  • ट्रेन के निर्धारित प्रस्थान से कम से कम 90 मिनट पहले स्टेशन पर पहुंचें।
  • भारतीय रेलवे के कर्मचारी आपके टिकट की जांच करेंगे। आपको थर्मल स्क्रीनिंग थर्मामीटर पर स्क्रीन करेंगे और थर्मल स्क्रीनिंग आदि के लिए आपका आरोग्य सेतु ऐप अनुमति देगा।
अगली खबर