हर महीने कितना करें निवेश? 50 साल की उम्र में हो जाए 10 करोड़ रुपए

बहुत से लोग रिटायरमेंट की प्लानिंग के लिए काफी कम उम्र में शुरू कर देते हैं। यह पता नहीं होता है कहां निवेश करें ताकि उनके पास करोड़ों रुपए हो सके। 

How much to invest every month? at the age of 50 you should have 10 crore rupees
निवेश के जरिए करोड़पति बनने का तरीका 

मुख्य बातें

  • रिटायरमेंट फंड के लिए लोग आम तौर पर सुरक्षित निवेश करते हैं।
  • अधिक रिटर्न प्राप्त करने के लिए इक्विटी म्यूचुअल फंड में निवेश करें।
  • 50 की उम्र तक 10 करोड़ रुपए प्राप्त करना चाहते हैं तो एसआईपी बेहतर विकल्प है।

उम्र बढ़ने के साथ-साथ लोगों की काम करने की क्षमता और इच्छा कम होती जाती है।  लेकिन अनिच्छा के बावजूद, कई लोग 60 साल की उम्र तक काम करते हैं क्योंकि उन्हें एक ऐसी राशि हासिल करने की आवश्यकता होती है जो उनके रिटायरमेंट लाइफ के लिए पर्याप्त हो। आम तौर पर, यह 60 वर्ष की आयु से पहले संभव नहीं हो पाता है। चूंकि भारत में औसत जीवन प्रत्याशा में काफी वृद्धि हुई है, इसलिए एक ऐसे फंड को जमा करने की आवश्यकता है जो कम से कम 25 वर्षों की रिटायरमेंट लाइफ के लिए पर्याप्त हो। लेकिन अगर आप जल्दी रिटायर होने की योजना बना रहे हैं जैसे कि 50 वर्ष की आयु तक आपको एक बड़ा फंड प्राप्त करने की जरुरत है।

बहुत से लोग रिटायरमेंट के बाद भी अपने सपनों को पूरा करने के लिए लगे रहते हैं जिसके लिए उन्हें एक बड़ा फंड जमा करने की आवश्यकता होती है। यहां ध्यान देने योग्य बात यह है कि रिटायरमेंट के बाद भी अपनी वर्तमान जीवनशैली को बनाए रखने के लिए आपको महंगाई को ध्यान में रखना होगा और उसके अनुसार बचत करनी होगी। 

अगर आप 30 वर्ष के हैं और आपके घर का खर्च 50,000 रुपए प्रति माह (6 लाख रुपए प्रति वर्ष) है तो रिटायरमेंट के समय (50 साल की उम्र) वही जीवन शैली के लिए आपको 1,32,665 रुपए प्रति माह या 15.92 लाख रुपए प्रति वर्ष की आवश्यकता होगी। यहां हमने अगले 20 वर्षों में 5% की औसत महंगाई दर मान ली है। अगर महंगाई दर 5% से अधिक रहती है तो रिटायरमेंट के समय आवश्यक राशि और बढ़ जाएगी। वित्तीय योजनाकारों का कहना है कि अगर कोई व्यक्ति कम उम्र में निवेश करना शुरू कर देता है और बिना किसी रूकावट के रिटायरमेंटतक इसे जारी रखता है, तो जल्दी रिटयरमेंट (50 वर्ष की आयु में) संभव है।

रिटायरमेंट के लिए कहां करें निवेश

जब रिटायरमेंट फंड के संचय की बात आती है, तो लोग आम तौर पर सुरक्षित चलते हैं और फिक्स्ड डिपॉजिट या पीपीएफ जैसे ब्याज-जोखिम-मुक्त साधनों को पसंद करते हैं, जो वर्तमान में 6 से 7.5% रिटर्न देते हैं। और यह भी टैक्स कुशल नहीं है। वित्तीय योजनाकारों का कहना है कि चूंकि रिटायरमेंट एक लॉन्ग टर्म लक्ष्य है, इसलिए बेहतर रिटर्न प्राप्त करने के लिए कोई भी इक्विटी एक्सपोजर ले सकता है, जिससे आपको मासिक निवेश की एक छोटी राशि के साथ भी एक बड़ा रिटायरमेंट फंड जमा करने में मदद मिलेगी।

वित्तीय योजनाकारों का कहना है कि डायवर्सिफाइड लार्ज-कैप म्यूचुअल फंड, मल्टीकैप फंड, जिनमें लंबी अवधि में 12-15% का वार्षिक रिटर्न उत्पन्न करने की क्षमता है। इसे आपके पोर्टफोलियो में शामिल किया जा सकता है। अगर आप इक्विटी में पूरा एक्सपोजर लेने से डरते हैं, तो आप 25:75 डेट/इक्विटी एक्सपोजर लेकर नेशनल पेंशन सिस्टम (एनपीएस) में जा सकते हैं, जिससे आपको करीब 10% का सालाना रिटर्न हासिल करने में मदद मिलेगी।

लेकिन अगर आप 50 साल की उम्र तक 10 करोड़ रुपए के रिटायरमेंट फंड का लक्ष्य बना रहे हैं, तो डायरेक्ट इक्विटी या इक्विटी म्यूचुअल फंड के अलावा और कोई विकल्प नहीं है, जो 20 साल की अवधि में औसतन 12-15% रिटर्न दे सके। चूंकि अधिकांश खुदरा निवेशकों के पास सीधे इक्विटी में निवेश करने की विशेषज्ञता का अभाव है, इसलिए इक्विटी म्यूचुअल फंड मार्ग का पालन करना सुरक्षित है। और नियमित निवेश के लिए वित्तीय योजनाकारों का कहना है कि एसआईपी मोड सबसे उपयुक्त है।

5 करोड़ रुपए जमा करने के लिए आपको हर महीने कितना निवेश करना होगा?

10 करोड़ रुपए की राशि जमा करने के लिए आपको कितनी राशि का निवेश करना होगा यह आपके रिटायर होने के समय और आपके द्वारा चुने गए निवेश वाहन पर निर्भर करेगा। उदाहरण के लिए, आपकी वर्तमान आयु 25 वर्ष है और आप 50 वर्ष की आयु में रिटायर होना चाहते हैं तो आपको 10 करोड़ रुपए जमा करने के लिए अगले 25 वर्षों तक SIP के माध्यम से हर महीने 53,500 रुपए का निवेश करने की आवश्यकता है। यह 12% का वार्षिक रिटर्न मान रहा है।

अगर आप एक साल बाद 26 साल की उम्र में शुरू करते हैं तो आवश्यक राशि 60,500 रुपए हो जाएगी। इसी तरह, अगर आप इसे 5 साल और देरी करते हैं, तो आपको समान राशि जमा करने के लिए हर महीने 101,500 रुपए का निवेश करना होगा। चक्रवृद्धि ब्याज का प्रभाव कम होने पर निवेश में देरी के साथ आवश्यक राशि काफी बढ़ जाती है। यहां एक उदाहरण दिया गया है कि 50 साल की उम्र तक 10 करोड़ रुपए जमा करने के लिए आपको हर महीने कितनी बचत करने की जरूरत है, यह मानते हुए कि आपका निवेश 12% की वार्षिक दर से बढ़ता है।

50 की उम्र तक 10 करोड़ रुपए जमा करने के लिए आपको हर महीने कितना निवेश करना होगा 

उम्र संभावित रिटर्न         निवेश राशि
25 साल 12%     53,224 रुपए
26 साल 12%     60,382 रुपए
27 साल 12%     68,565 रुपए
28 साल 12%     77,938 रुपए
29 साल 12%     88,700 रुपए
30 साल 12%     1,01,086 रुपए
31 साल 12%     1,15,386 रुपए
32 साल 12%     1,31,950 रुपए
33 साल 12%     1,51,216 रुपए
34 साल 12%     1,73,725 रुपए
35 साल 12%     2,00,168 रुपए

क्या होगा अगर जरूरी राशि का निवेश नहीं कर सकते हैं? कई युवा अपने करियर की शुरुआत के दौरान उपरोक्त राशि को बचाने में सक्षम नहीं होंगे क्योंकि उस दौरान आय का स्तर आमतौर पर कम रहता है। वित्तीय योजनाकारों का कहना है कि उपरोक्त राशि जमा करने के लिए कोई स्टेप-अप एसआईपी के लिए जा सकता है। स्टेप-अप एसआईपी में, युवा शुरुआत में एसआईपी की एक छोटी राशि के साथ शुरू कर सकते हैं और फिर वे लक्षित राशि प्राप्त करने के लिए हर साल एक निश्चित प्रतिशत या एक निश्चित राशि से एसआईपी राशि बढ़ा सकते हैं। उपरोक्त उदाहरण में, अगर 25 वर्ष की आयु का व्यक्ति 50 वर्ष की आयु तक 10 करोड़ रुपए जमा करना चाहता है तो वह हर महीने 25,410 रुपए के एसआईपी से शुरू कर सकता है और एसआईपी राशि को 50 वर्ष की आयु तक हर साल 10% तक बढ़ा सकता है। इसी तरह, 26-35 आयु वर्ग के लोगों के लिए, स्टेप-अप एसआईपी की निम्नलिखित राशि को 50 वर्ष की आयु तक 10 करोड़ रुपए का टारगेट फंड जमा करने की आवश्यकता होगी अगर वे एसआईपी राशि में प्रति वर्ष 10% की वृद्धि के साथ स्टेप-अप एसआईपी मार्ग का पालन करते हैं।

50 की उम्र तक 10 करोड़ रुपए जमा करने के लिए कितना स्टेप-अप एसआईपी जरूरी

यहां उल्लेख करने योग्य बात यह है कि आपको रिटायरमेंट के लिए अपने नियमित निवेश के साथ एक आपातकालीन फंड भी बनाने की आवश्यकता है ताकि नौकरी छूटने, अस्पताल में भर्ती होने या किसी भी महामारी जैसी आपात स्थिति के मामले में आपका रिटायरमेंट फंड अछूता रहे। इमरजेंसी फंड आपके छह महीने के घरेलू खर्चों की सीमा तक होना चाहिए, जिसमें ईएमआई भी शामिल है, अगर कोई हो। चल रहे कोविड-19 महामारी ने कई लोगों को बेरोजगार कर दिया है। इसलिए इमरजेंसी फंड का होना बहुत जरूरी है। 

Times now
Mirror Now
ET Now
zoom Live
Live TV
अगली खबर