क्या होता है होम इम्प्रूवमेंट लोन? अप्लाई करने से पहले जान लीजिए ये जरूरी बातें

बिजनेस
Updated Nov 11, 2019 | 13:01 IST | टाइम्स नाउ डिजिटल

Loan Tips: घर खरीदने या बनाने के लिए होम लोन लिया जाता है, लेकिन होम इम्प्रूवमेंट लोन किस लिए और किन लोगों को मिलता है, इसकी जानकारी कम लोगों को होती है। आइए जानते हैं इस लोन के बारे में।

Home Improvement Loan
Home Improvement Loan: क्या है ये होम इम्प्रूवमेंट लोन  |  तस्वीर साभार: Getty Images

आपका घर आम तौर पर आपकी सबसे महँगी और सबसे बेशकीमती परिसम्पत्ति होती है। लेकिन, इसे लम्बे समय तक टिकाऊ बनाए रखने के लिए इसमें समय-समय पर सुधार, मरम्मत, या रखरखाव की जरूरत भी पड़ती है। चाहे त्योहारों का मौसम करीब आ गया हो इसलिए, या शादी होने वाली हो इसलिए, या सिर्फ इसलिए क्योंकि आपको लगता है कि अब आप रेनोवेशन में देर नहीं करना चाहिए, एक होम इम्प्रूवमेंट लोन आपके सपनों को हकीकत में बदल सकता है यदि आपके हाथ में जरूरी रकम नहीं है।

क्या है होम इम्प्रूवमेंट लोन?

एक होम इम्प्रूवमेंट लोन के बारे में जानने लायक सबसे पहली बात तो यह है कि आप इस फाइनेंसिंग सुविधा का लाभ उठा सकते हैं चाहे आपके पास एक मौजूदा होम लोन हो या न हो। दूसरी बात, इसका इस्तेमाल तरह-तरह के काम के लिए जैसे फ्लोरिंग, टाइल लगाने, प्लास्टर करने, पेंट करने, प्लंबिंग वर्क, सेनेटरी वर्क, और वाटरप्रूफिंग के लिए किया जा सकता है। कुछ बैंक इस लोन के अंतर्गत फर्नीचर आइटम या इलेक्ट्रॉनिक सामान खरीदने की इजाजत भी देते हैं। तीसरी बात, बैंकों के साथ-साथ नॉन-बैंकिंग फाइनेंशियल कंपनियों के द्वारा भी ये लोन प्रदान किए जाते हैं।

इसके अलावा, इस तरह के लोन के लिए अप्लाई करने से पहले, कुछ बातों को ध्यान में रखना जरूरी होता है ताकि आपको उसका भरपूर लाभ मिल सके। यहाँ कुछ ऐसी बातें बताई जा रही हैं जिन पर आपको ध्यान देना चाहिए:

मालिकाना और आवेदन:
एक होम इम्प्रूवमेंट लोन का आवेदक, संपत्ति का मालिक होना चाहिए; लेकिन, यदि एक से अधिक मालिक हैं तो सभी मालिकों को संयुक्त रूप से इसके लिए अप्लाई करना चाहिए। आप एक ऐसे व्यक्ति के साथ भी इस लोन के लिए संयुक्त रूप से अप्लाई कर सकते हैं जो घर का सह-मालिक नहीं है।
money
(Getty Images)

खर्च करने की क्षमता:
बैंक और उसके योग्यता मानदंडों के आधार पर, आपको अपने इम्प्रूवमेंट एस्टीमेट का 75 से 100 प्रतिशत तक लोन मिल सकता है। आप उस लोन के पैसे से क्या करना चाहते हैं उसकी लिस्ट बनाने में व्यस्त होने के कारण आप लोन की EMI के बारे में आसानी से भूल सकते हैं। आप बड़ी आसानी से जरूरत से ज्यादा और बेकार की चीजों पर खर्च कर सकते हैं जो आपकी लिस्ट में नहीं है, सिर्फ इसलिए क्योंकि आपको इसका पेमेंट एक ही बार में अपनी सेविंग्स के पैसे से करना नहीं पड़ता है। लेकिन, यह बात भी याद रखनी चाहिए कि आप EMI के रूप में कितना पेमेंट कर सकते हैं (अन्य लोन की EMI को भी ध्यान में रखें) ताकि आपके मंथली बजट पर इसका कोई बुरा असर न पड़े।

लोन अमाउंट, इंटरेस्ट रेट, और लोन रीपेमेंट पीरियड:
होम इम्प्रूवमेंट लोन का इंटरेस्ट रेट काफी हद तक होम लोन के समान ही होता है। फ्लोटिंग इंटरेस्ट लोन का प्रचलित रेट 8.25 से 12.5 प्रतिशत प्रति वर्ष के आसपास है। आपको फिक्स्ड इंटरेस्ट रेट और फ्लोटिंग इंटरेस्ट रेट दोनों रेट पर लोन मिल सकता है।

अप्रूव किया जाने वाला लोन अमाउंट, उस संपत्ति के बाजार मूल्य के आधार पर एक सीमा रेखा के अधीन होता है। जहाँ तक लोन रीपेमेंट पीरियड का सवाल है, यह कई कारकों पर निर्भर करता है जैसे आपका इनकम, लोन की मैच्योरिटी के समय उम्र, लोन की मैच्योरिटी के समय आपकी संपत्ति की उम्र, क्रेडिट स्कोर, इत्यादि। लोन रीपेमेंट पीरियड, 5 से 15 साल के आसपास हो सकता है।
money
(Getty Images)

अतिरिक्त चार्ज:
जैसा कि किसी भी लोन के साथ होता है, अतिरिक्त चार्ज को ध्यान में रखें जो बड़ी आसानी से नजरअंदाज हो सकता है, जैसे प्रोसेसिंग फीस, एडमिनिस्ट्रेशन फीस, रेगुलेटरी चार्ज, प्रीपेमेंट और प्री-क्लोजर चार्ज, इत्यादि।

आवश्यक दस्तावेज:
जबकि यह अलग-अलग उधारदाता के लिए अलग-अलग हो सकता है, लेकिन फिर भी आपको आम तौर पर काफी हद तक इनकम प्रूफ, आइडेंटिटी प्रूफ और रेसिडेंस प्रूफ, प्रॉपर्टी का टाइटल डीड्स, प्रॉपर्टी पर नो-एनकम्ब्रेंस का प्रूफ, सिविल इंजीनियर या आर्किटेक्ट से प्रस्तावित इम्प्रूवमेंट का एस्टीमेट, किसी चल रहे लोन के रीपेमेंट को दर्शाने के लिए बैंक स्टेटमेंट, इत्यादि की जरूरत पड़ सकती है।

सिक्योरिटी:
होम इम्प्रूवमेंट लोन आम तौर पर सिक्योर्ड लोन होते हैं जो या तो फाइनेंस की जाने वाली प्रॉपर्टी पर सिक्योरिटी इंटरेस्ट हो सकता है या कोई आतंरिक सिक्योरिटी या कोलैटरल (उधारदाता के अनुसार)।

होम इम्प्रूवमेंट लोन से संबंधित टैक्स बेनिफिट

क्या आपको पता है कि आपको एक होम इम्प्रूवमेंट लोन पर दिए जाने वाले इंटरेस्ट पर टैक्स बेनिफिट भी मिल सकता है जैसा एक होम लोन के मामले में होता है? इनकम टैक्स एक्ट के सेक्शन 24 के तहत, आप सिर्फ इंटरेस्ट पर हर साल 30,000 रु. तक का टैक्स बेनिफिट ले सकते हैं। लेकिन, यदि आपने एक अपने कब्जे वाली प्रॉपर्टी पर पहले से एक होम लोन ले रखा है तो 30,000 रु. का यह टैक्स डिडक्शन, होम लोन के इंटरेस्ट पर मिलने वाले 2 लाख रु. के डिडक्शन के अंतर्गत आएगा।

होम इम्प्रूवमेंट लोन या पर्सनल लोन?

इस तरह का लोन लेने के बारे में सोचते समय कुछ अन्य बातों पर भी ध्यान देना जरूरी है जैसे कि इसका इंटरेस्ट रेट, पर्सनल लोन की तुलना में काफी कम होना चाहिए। इसके अलावा, यदि आपने एक बैंक से पहले ही एक होम लोन ले रखा है तो उसी बैंक में एक होम इम्प्रूवमेंट लोन के लिए अप्लाई करते समय इम्प्रूवमेंट एस्टीमेट का 100% तक लोन मिल सकता है और इंटरेस्ट रेट थोड़ा कम भी हो सकता है।

क्रेडिट स्कोर का महत्व

अंत में, इससे कोई फर्क नहीं पड़ता कि आप किस तरह के लोन के लिए अप्लाई करते हैं, एक अच्छे क्रेडिट स्कोर के महत्व को नजरअंदाज नहीं किया जा सकता है। यदि आपका क्रेडिट स्कोर अच्छा है तो आपको बिना किसी परेशानी के और बेहतर रीपेमेंट शर्तों पर जैसे कम इंटरेस्ट रेट पर या एक लम्बे रीपेमेंट पीरियड के लिए लोन मिल सकता है। लेकिन, यदि आपका क्रेडिट स्कोर 750 से कम है तो किसी भी लोन के लिए अप्लाई करने से पहले अपने क्रेडिट स्कोर को ठीक करने पर ध्यान दें।

आप किसी भी लोन डिफ़ॉल्ट जैसे क्रेडिट कार्ड ड्यू, पर्सनल ड्यू, इत्यादि का फुल पेमेंट करके और अपनी क्रेडिट रिपोर्ट में कोई गलती होने पर उसे ठीक करके ऐसा कर सकते हैं। इसमें कुछ महीने लग सकते हैं लेकिन लम्बे समय में यह काफी फायदेमंद साबित होगा क्योंकि इससे आसानी से और जल्दी से लोन मिल सकता है। इसके अलावा, बहुत अच्छे क्रेडिट स्कोर वाले लोगों को बेस्ट रेट पर लोन ऑफर किया जाता है।

ऊपर बताए गए उपायों की मदद से आप अच्छी तरह सोच-समझकर एक होम इम्प्रूवमेंट लोन से संबंधित सही फैसला ले पाएंगे। नियमित रूप से लोन का रीपेमेंट करके इस लोन का भरपूर लाभ उठाएं। इससे सिर्फ आपके होम इम्प्रूवमेंट की जरूरतें पूरी करने में ही मदद नहीं मिलेगी बल्कि आपको अपने क्रेडिट स्कोर को बेहतर बनाने में भी काफी मदद मिलेगी।

इस लेख के लेखक, BankBazaar.com के CEO आदिल शेट्टी हैं)
(डिस्क्लेमर: यह जानकारी एक्सपर्ट की रिपोर्ट के आधार पर दी जा रही है। बाजार जोखिमों के अधीन होते हैं, इसलिए निवेश के पहले अपने स्तर पर सलाह लें।)

Times Now Navbharat पर पढ़ें Business News in Hindi, साथ ही ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें ।

Times Now Navbharat
Times now
zoom Live
ET Now
Mirror Now
Live TV
अगली खबर