पीएम केयर्स फंड और प्रधानमंत्री राष्ट्रीय राहत कोष में क्या अंतर है? जानें डिटेल

सुप्रीम कोर्ट ने पीएम केयर्स फंड का ट्रांसफर आदेश देने से इनकार कर दिया। जानिए पीएम केयर्स फंड और प्रधानमंत्री राष्ट्रीय राहत कोष में अंतर क्या है?

Difference between PM cares fund and PMNRF, know Details
पीएम केयर्स फंड, प्रधानमंत्री राष्ट्रीय राहत कोष में अंतर 

नई दिल्ली : सुप्रीम कोर्ट ने पीएम केयर्स फंड में आई दान राशि को राष्ट्रीय आपदा मोचन फंड (एनडीआरएफ) में ट्रांसफर का आदेश देने से इनकार कर दिया। केंद्र सरकार ने 28 मार्च को आपात स्थितियों में प्रधानमंत्री नागरिक सहायता एवं राहत (पीएम केयर्स) फंड की स्थापना की थी। जिसका प्राथमिक उद्देश्य कोरोना वायरस की वजह से पैदा हुए मौजूदा परिस्थिति से निपटना और प्रभावितों को राहत पहुंचाना था। इस फंड का प्रधानमंत्री पदेन अध्यक्ष बनाए गए हैं और रक्षामंत्री, गृहमंत्री और वित्तमंत्री पदेन ट्रस्टी हैं। जब से पीएम केयर्स फंड की स्थापना हुई तब से विपक्षी पार्टियां मांग कर रही हैं कि पीएम केयर्स फंड का एनडीआरएफ फंड में ट्रांसफर किया जाए। देश में पहले से प्रधानमंत्री राष्ट्रीय राहत कोष बना हुआ है। आइए जानते हैं पीएम केयर फंड (PM Care Fund) और प्रधानमंत्री राष्ट्रीय राहत कोष (Prime Minister National Relief Fund) के बीच अंतर है। 

भारत में प्राकृतिक आपदाओं से निपटने के लिए एक राष्ट्रीय राहत कोष 1948 में स्थापित किया गया था। प्रधानमंत्री राष्ट्रीय राहत कोष की स्थापना जनवरी 1948 में पूर्व और दिवंगत प्रधानमंत्री जवाहरलाल नेहरू द्वारा की गई थी। इसकी स्थापना का मुख्य उद्देश्य देश के विभाजन के दौरान पाकिस्तान के विस्थापित लोगों की मदद करना था। वर्तमान में, इस पूल में एकत्रित धन का उपयोग भूकंप, चक्रवात, बाढ़, सुनामी और अन्य प्राकृतिक आपदाओं में मारे गए लोगों के परिवारों को और बड़ी दुर्घटनाओं और सांप्रदायिक दंगों के पीड़ितों को तत्काल राहत प्रदान करने के लिए किया जाता है। इसके अलावा इस फंड का इस्तेमाल किडनी ट्रांसप्लांट, हार्ट सर्जरी, एसिड अटैक और जरूरतमंद लोगों के कैंसर के इलाज के लिए भी किया जाता है। इस फंड की सबसे अच्छी खासियत यह है कि इसका हर साल ऑडिट किया जाता है। वार्षिक लेखा परीक्षा में देश के प्रत्येक नागरिक को धन की वित्तीय स्थिति की स्पष्ट तस्वीर मिलती है। 

पीएम केयर फंड (PM Care Fund) क्या है?

पीएम केयर फंड की स्थापना वर्तमान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा 27 मार्च 2020 को की गई है। इसकी स्थापना के पीछे मुख्य उद्देश्य भारत में COVID-19 महामारी से निपटने के लिए वित्त की व्यवस्था करना है। पीएम केयर फंड का पूर्ण रूप प्रधानमंत्री की नागरिक सहायता और आपातकालीन स्थिति निधि में राहत है। अपनी स्थापना के बाद से पीएम केयर्स फंड का कोई ऑडिट नहीं होने से इसकी आलोचना हो रही है। लेकिन राजनीतिक दबाव के कारण, केंद्र सरकार ने एक लेखा परीक्षक नियुक्त किया है।

प्रधानमंत्री राष्ट्रीय राहत कोष (PMNRF) की मुख्य बातें

  1. PMNRF (प्रधान मंत्री राष्ट्रीय राहत कोष) की स्थापना जनवरी 1948 में हुई थी।
  2. PMNRF भारत के पहले प्रधान मंत्री, जवाहरलाल नेहरू द्वारा स्थापित किया गया था।
  3. PMNRF (प्रधान मंत्री राष्ट्रीय राहत कोष) की स्थापना का प्रारंभिक उद्देश्य भारत और पाकिस्तान के विभाजन के कारण विस्थापित हुए लोगों की मदद करना था।
  4. प्रधान मंत्री राष्ट्रीय राहत कोष (PMNRF) के चेयरमैन भारत के प्रधानमंत्री होते हैं। अन्य सदस्य टाटा ट्रस्ट्स, फिक्की के प्रतिनिधि, कांग्रेस अध्यक्ष हैं।
  5. प्रधानमंत्री राष्ट्रीय राहत कोष (PMNRF) में न्यूनतम राशि 100 रुपए दान कर सकते हैं।
  6. PMNRF सभी केंद्र और राज्य द्वारा संचालित अस्पतालों और कई निजी अस्पतालों के साथ संलग्न किया गया है।
  7. PMNRF चक्रवात, भूकंप, बाढ़, सुनामी आदि जैसी सभी प्राकृतिक आपदाओं और आपदाओं पर ध्यान केंद्रित करता है। PMNRF फंड का उपयोग एसिड अटैक पीड़ितों, कैंसर उपचार, किडनी प्रत्यारोपण आदि के लिए भी किया जाता है।
  8. रिपोर्टों के अनुसार, PMNRF में केवल 15% की लिक्विडिटी कम है, जिससे आपात स्थिति में इसका उपयोग करना मुश्किल हो जाता है। रिपोर्ट के अनुसार, कॉर्पस के स्टेट डवलपमेंट लोन्स, फिक्स्ड डिपॉजिट आदि में निवेश किया जाता है।
  9. PMNRF (प्रधान मंत्री राष्ट्रीय राहत कोष) केवल संस्थाओं और व्यक्तियों द्वारा स्वैच्छिक दान स्वीकार करता है। सार्वजनिक क्षेत्र के उपक्रमों (पीएसयू) या सरकार के बजटीय स्रोतों से बैलेंस शीट से निकलने वाले योगदान को स्वीकार नहीं किया जाता है।

पीएम केयर्स फंड (PM Care Fund) की मुख्य बातें

  1. 27 मार्च 2020 को पीएम केयर्स फंड की स्थापना की गई थी।
  2. पीएम केयर्स फंड भारत के वर्तमान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा स्थापित किया गया था।
  3. कोरोना वायरस महामारी से प्रभावित लोगों की मदद करने के उद्देश्य से पीएम केयर्स फंड की स्थापना की गई थी।
  4. पीएम केयर्स फंड के चेयरमैन भारत के प्रधानमंत्री हैं। प्रधानमंत्री के पास सदस्यों को नामित करने की शक्ति है। पीएम केयर्स फंड के अन्य सदस्य रक्षा मंत्री, गृह मंत्री और वित्त मंत्री हैं।
  5. पीएम केयर्स फंड माइक्रो दान के लिए विकल्प की अनुमति देता है, कोई व्यक्ति पीएम केयर फंड में कम से कम 10 रुपए दान कर सकता है।
  6. पीएम केयर फंड के संबंध में अस्पतालों के साथ इसके नेटवर्क पर कोई स्पष्टता नहीं है।
  7. पीएम केयर्स फंड का उपयोग विशेष रूप से कोरोना वायरस के उद्देश्यों के लिए किया जाता है।
  8. पीएम केयर्स फंड में कम तरलता की कोई रिपोर्ट नहीं है, इसलिए फंड का उपयोग करने में कोई बाधा नहीं होनी चाहिए।
     
Times now
Mirror Now
ET Now
zoom Live
Live TV
अगली खबर