Arogya Setu app : 'आरोग्‍य सेतु एप पासपोर्ट की तरह', उड्डयन मंत्री ने ग्रीन सिग्‍नल को लेकर कही बड़ी बात

Hardeep Singh Puri on Arogya Setu app : घरेलू उड़ान सेवाएं 25 मार्च से शुरू होने जा रही है। इस बीच नागरिक उड्डयन मंत्री हरदीप सिंह पुरी ने आरोग्‍य सेतु एप को लेकर बड़ा बयान दिया है।

'आरोग्‍य सेतु एप पासपोर्ट की तरह', उड्डयन मंत्री ने ग्रीन सिग्‍नल को लेकर कही बड़ी बात
'आरोग्‍य सेतु एप पासपोर्ट की तरह', उड्डयन मंत्री ने ग्रीन सिग्‍नल को लेकर कही बड़ी बात  |  तस्वीर साभार: BCCL

मुख्य बातें

  • करीब दो महीने के लॉकडाउन के बाद 25 मार्च से घरेलू उड़ान सेवा शुरू होने जा रही है
  • इस बीच नागरिक उड्डयन मंत्री हरदीप पुरी ने आरोग्‍य सेतु एप को लेकर बड़ा बयान दिया है
  • उन्‍होंने कोरोना ट्रैकर आरोग्‍य सेतु एप को पासपोर्ट के जैसा बताया है

नई दिल्‍ली : देश में करीब दो महीने के लॉकडाउन के बाद 25 मार्च से घरेलू उड़ान सेवा शुरू होने जा रही है, जिसके लिए उड्डयन क्षेत्र पूरी तरह तैयार है। इसके लिए टिकटों की बुकिंग भी शुरू हो गई है और एयरपोर्ट्स पर जरूरी इंतजाम किए जा रहे हैं। इस बीच नागरिक उड्डयन मंत्री हरदीप पुरी ने हवाई यात्रा के दौरान आरोग्‍य सेतु एप को लेकर बड़ा बयान दिया है, जिस पर पहले कई सवाल उठ चुके हैं।

आरोग्‍य सेतु एप को बताया बेहतरीन

नागरिक उड्डयन मंत्री हरदीप सिंह पुरी ने कोरोना ट्रैकर आरोग्य सेतु एप के संबंध में कहा कि यह एक तरह से पासपोर्ट जैसा है और अगर इसमें स्‍टेटस ग्रीन है तो संबंधित व्‍यक्ति को क्‍वारंटीन में रखने की जरूरत नहीं होनी चाहिए। उन्‍होंने कहा, 'आरोग्‍य सेतु एप एक ऐसी चीज है, जो मेरे हिसाब से हर किसी के पास होनी चाहिए। कॉन्‍टैक्‍ट ट्रेसिंग के हिसाब से यह बेहतरीन है, जिसकी तुलना नहीं की जा सकती।'

'आरोग्‍य सेतु एप पासपोर्ट की तरह'

उन्‍होंने आगे कहा, 'अगर आपने टेस्ट कराया है और आपकी रिपोर्ट निगेटिव आई है, कोरोना का कोई लक्षण भी नहीं है तो मुझे लगता है कि क्‍वारंटीन की आवश्‍यकता नहीं होनी चाहिए। आरोग्‍य सेतु एप पासपोर्ट की तरह है, अगर आपका स्‍टेटस ग्रीन है तो किसी को क्‍यों क्‍वारंटीन में भेजा चाहिए। अरोग्‍य सेतु पर ग्रीन स्‍टेटस वाले यात्रियों को क्‍वांरटीन में भेजने की जरूरत मेरे हिसाब से समझ से परे है।'

जून-जुलाई में शुरू होंगी इंटरनेशनल फ्लाइट्स?

उन्‍होंने इस दौरान यह भी कहा कि उड्डयन मंत्रालय आने वाले दिनों में और अधिक फ्लाइट्स और इंटरनेशनल फ्लाइट्स के संचालन की संभावनाओं पर भी विचार कर रहा है और अगर सबकुछ सही रहा तो इसके लिए अगस्‍त या सितंबर तक इंतजार करने की आवश्‍यकता नहीं रहेगी। उन्‍होंने कहा, 'अगस्‍त-सितंबर तक क्यों? अगर हालात सामान्‍य होते हैं या हम इस संक्रमण के साथ जीना सीख जाते हैं और हम इंतजाम करने की स्थिति में होते हैं तो यह जून के मध्‍य तक या जुलाई के आखिर में क्‍यों नहीं हो सकता?'

25 मई से शुरू होगी उड़ान सेवा

यहां उल्‍लेखनीय है कि कोरोना संक्रमण और देश में 31 मई तक लागू लॉकडाउन के बीच घरेलू उड़ान सेवाएं शुरू करने का फैसला लिया गया है। हालांकि इस दौरान कई नियम और शर्तें लागू रहेंगी। यह व्‍यवस्‍था 25 मई से 25 अगस्‍त के लिए की गई है और उड़ान की अवधि के आधार पर इसे सात श्रेणियों में बांटा गया है। सरकार ने टिकटों के दाम की अधिकतम व न्‍यूनतम सीमा भी तय की है, जिसका पालन एयरलाइंस को करना होगा।

अगली खबर