Annual Invest India Conference: लॉकडाउन के दौरान कृषि उत्पादों के निर्यात में इजाफा, 'यह है भारत की ताकत'

एनुअल इंडिया इंवेस्टमेंट में पीएम मोदी ने कहा कि भारत की कहानी आज मजबूत है और आने वाले समय में हम और मजबूत बनकर दुनिया के सामने होंगे।

Annual Invest India Conference: तालाबंदी के दौरान कृषि उत्पादों में 23 फीसद की बढ़ोतरी, 'यह है भारत की ताकत'
एनुअल इंवेस्ट इंडिया कांफ्रेंस में पीएम नरेंद्र मोदी 

नई दिल्ली। एनुअल इंडिया इंवेस्टमेंट कांफ्रेंस में पीएम नरेंद्र मोदी ने कहा कि तमाम मुश्किलों के बावजूद भारत तरक्की के रास्ते पर है। चाहे कृषि क्षेत्र हो या लेबर सेक्टर भारत सरकार की तरफ से क्रांतिकारी बदलाव किए गए हैं और उसका असर हर कोई महसूस कर सकता है। यही नहीं जब कोरोना महामारी का पूरी दुनिया सामना कर रही है वैसे में भारत ने कुछ खास कामयाबी भी हासिल की है। 

कृषि उत्पाद निर्यात में लॉकडाउन के दौरान बेहतरीन प्रदर्शन
पीएम मोदी ने कहा कि  भारत दुनिया में फार्मेसी की भूमिका निभा रहा है। हमने अब तक लगभग 150 देशों को दवा उपलब्ध कराई है। इस वर्ष मार्च-जून के दौरान हमारे कृषि निर्यात में 23% की वृद्धि हुई। यह तब हुआ जब पूरा देश कड़े तालाबंदी में था।

  1. भारत की कहानी आज मजबूत है और कल मजबूत है। आज, प्रत्यक्ष विदेशी निवेश (एफडीआई) शासन बहुत अच्छी तरह से उदारीकृत है। हमने सॉवरिन वेल्थ और पेंशन फंड के लिए एक अनुकूल कर व्यवस्था बनाई है। हमने एक मजबूत बॉन्ड बाजार विकसित करने के लिए महत्वपूर्ण सुधार किए हैं।
  2. आज, भारत बाजार के साथ-साथ मानसिकता में तेजी से बदलाव कर रहा है। आज, भारत ने कंपनियों के अधिनियम के तहत विभिन्न अपराधों के विघटन और विघटन की यात्रा शुरू की है।
  3. भारत ने श्रम और कृषि के क्षेत्र में सुधार सुनिश्चित किए हैं। वे सरकार के सुरक्षा जाल को मजबूत करते हुए निजी क्षेत्र की अधिक भागीदारी सुनिश्चित करते हैं। इन सुधारों से उद्यमियों के साथ-साथ कड़ी मेहनत करने वाले लोगों के लिए भी जीत की स्थिति पैदा होगी।

श्रम कानून कर्मचारी और नियोक्ता दोनों के लिए बेहतर
श्रम कानूनों में सुधार श्रम कोडों की संख्या को बहुत कम कर देते हैं। वे दोनों कर्मचारी और नियोक्ता के अनुकूल हैं और इससे व्यापार करने में आसानी बढ़ेगी। उन्होंने कहा कि हम एक ऐसे भारत के निर्माण की दिशा में आगे बढ़ रहे हैं जो न केवल अपनी जरूरतों को पूरा कर सके, बल्कि वसुधैव कुटुम्बकम की भावना के साथ दुनिया के दूसरे मुल्कों के लिए भी सहायक सिद्ध हो सके। 

Times now
Mirror Now
ET Now
zoom Live
Live TV
अगली खबर