कड़ाके की ठंड में महिला ने पति और बच्चों को आधी रात घर से बाहर निकाला, ये थी वजह

भोपाल में एक महिला ने झगड़ा करने के बाद अपने पति को और अपने तीन मासूम बच्चों को कड़ाके की सर्दी में आधी रात के घर से बाहर निकाल दिया।

WOMAN THROWN HUSBAND AND CHILDREN OUT OF HOUSE
आधी रात में महिला ने पति बच्चों को निकाला घर से बाहर (PIXABAY) 

नई दिल्ली : मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल में एक महिला ने अपने पति और तीन मासूम बच्चों को रात के समय कड़ाकी की सर्दी में घर से बाहर निकाल दिया। घटना रविवार की रात 1 बजे की है। तीनों बच्चों की उम्र क्रमश: 11, 13 और 15 साल है। घर से बाहर निकाले जाने के बाद शख्स ने अशोका गार्डन पुलिस थाने में जाकर अपनी पत्नी के खिलाफ शिकायत दर्ज कराई।  

इसके बाद पुलिस ने उस व्यक्ति और 13 वर्षीय उसके बेटे के रहने के लिए शेल्टर होम की व्यवस्था करवाई। इसके अलावा 11 और 13 वर्षीय दो लड़कियों को ठहरने के लिए चाइल्डलाइन होम शेल्टर में  व्यवस्था करवाई।

सिटी चाइल्डलाइन की निदेशक अर्चना सहाय ने बताया कि महिला की अपने पति के साथ किसी बात पर तीखी बहस हो गई थी जिसके बाद उसने गुस्से में आकर अपने तीनों बच्चों के साथ पति को आधी रात घर से बाहर निकाल दिया और अंदर से घर का दरवाजा बंद कर दिया। 

घर के बाहर दरवाजे पर उन लोगों ने कई बार दरवाजा खोलने के लिए महिला से गुहार लगाई लेकिन उस महिला ने उनकी एक नहीं सुनी। थाने पहुंचने के बाद भी शख्स ने पति से कई बार फोन पर बात कर मामला सुलझाने की कोशिश की लेकिन बात नहीं बनी।

जब पत्नी ने कोई बात सुनने से इनकार कर दिया तो पति ने पुलिस से मिन्नतें कर अपने और अपने बच्चों के लिए शेल्टर होम में ठहरने की व्यवस्था करने का अनुरोध किया। शख्स जहां अपने बेटे के साथ एक रैन बसेरा में रुक गया वहीं पुलिस ने उसकी दोनों बेटियों को चाइल्डलाइन शेल्टर होम में रुकवाया। 

पुलिस ने बताया कि जब तक पति और पत्नी के बीच मामले का निपटारा नहीं हो जाता इन बच्चों को शेल्टर होम में ही रखा जाएगा। 
अशोका गार्डन एसएचओ उमेश यादव ने बताया कि महिला को इस मामले में समझौता करने के लिए थाने बुलाया गया। उन्होंने बताया कि चूंकि ये दोनों के बीच का व्यक्तिगत मामला था इसलिए वे इसमें एफआईआर दर्ज नहीं करना चाहते थे।  

उन्होंने बताया कि उन दोनों को काउंसलिंग के लिए भेजा जाएगा। तब तक सुरक्षा के लिहाज से बच्चों को शेल्टर होम में ही रखा जाएगा। पुलिस का कहना है कि अगर जरूरत पड़ी तो वे बच्चों का बयान भी लेंगे तब तक मामला दर्ज नहीं किया जाएगा उम्मीद है कि काउंसलिंग के बाद इनका मामला सुलझ जाएगा।  

Bhopal News in Hindi (भोपाल समाचार), Times now के हिंदी न्यूज़ वेबसाइट -Times Network Hindi पर। साथ ही और भी Hindi News (हिंदी समाचार) से अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें।

Times now
Mirror Now
ET Now
zoom Live
Live TV
अगली खबर