मारुति के पूर्व MD जगदीश खट्टर के खिलाफ CBI ने दर्ज किया मामला, बैंक को पहुंचाया 110 करोड़ का नुकसान

ऑटो
Updated Dec 24, 2019 | 16:25 IST | टाइम्स नाउ डिजिटल

Ex-Maruti MD Jagdish Khattar : सीबीआई ने मारुति उद्योग के पूर्व एमडी जगदीश खट्टर के खिलाफ बैंक लोन धोखाधड़ी का मामला दर्ज किया है। उन पर PNB को 110 करोड़ रुपए का नुकसान पहुंचाने का मामला दर्ज किया है।

Jagdish Khattar
मारुति उद्योग के पूर्व मैनेजिंग डायरेक्टर जगदीश खट्टर 

नई दिल्ली: मारुति उद्योग के पूर्व मैनेजिंग डायरेक्टर जगदीश खट्टर के खिलाफ 110 करोड़ रुपए के बैंक ऋण धोखाधड़ी के मामले में केंद्रीय जांच ब्यूरो (CBI) ने मामला दर्ज किया है। सीबीआई अधिकारियों ने मामले में एफआईआर दर्ज की है, जिसमें पंजाब नेशनल बैंक (PNB) को 110 करोड़ रुपए के नुकसान के लिए खट्टर और उनकी कंपनी कारनेशन ऑटो इंडिया लिमिटेड का नाम दिया है। सीबीआई अधिकारियों ने कहा कि खट्टर 1993 से 2007 तक मारुति उद्योग लिमिटेड के साथ थे। वे कंपनी के प्रबंध निदेशक के रूप में सेवानिवृत्त हुए।

मारुति उद्योग से सेवानिवृत्त होने के बाद खट्टर ने कारनेशन ऑटो इंडिया प्राइवेट लिमिटेड को लॉन्च किया और 2009 में स्वीकृत 170 करोड़ रुपये का लोन लिया। सीबीआई की प्राथमिकी के अनुसार, ऋण को 2015 में 2012 से गैर-निष्पादित परिसंपत्ति (NPA) घोषित किया गया था।

अधिकारियों ने बताया कि जांच एजेंसी ने पंजाब नेशनल बैंक की शिकायत पर आपराधिक साजिश और धोखाधड़ी से संबंधित आईपीसी की धाराओं के तहत प्राथमिकी दर्ज की है।

केजी सोमानी एंड कंपनी के माध्यम से बैंक द्वारा एक फोरेंसिक ऑडिट किया गया, जिसमें बताया गया कि आरोपी कर्जदार ने बैंक की मंजूरी के बिना 66.92 करोड़ रुपए की अचल संपत्तियां 45.6 करोड़ रुपए में बेच दीं।

सूत्रों का कहना है कि बिक्री के बाद आरोपी उधारकर्ता ने बैंक को बिक्री आय जमा नहीं की। इस मामले में बैंक अधिकारियों की भूमिका भी सवालों के घेरे में है। उन्होंने कथित रूप से स्टॉक का मासिक सत्यापन नहीं किया। बैंक ने अपनी शिकायत में पांच आरोपियों का उल्लेख किया है। इसमें खट्टर आटो इंडिया प्राइवेट लिमिटेड, कारनेशन रियल्टी प्राइवेट लिमिटेड और कारनेशन इंश्योरेंस ब्रोंकिंग कंपनी प्राइवेट लिमिटेड का नाम शामिल है।

Times now
Mirror Now
ET Now
zoom Live
Live TV
अगली खबर