आगरा में आंधी-तूफान से ताजमहल को हुआ खासा नुकसान, मुख्य मकबरे की रेलिंग टूटी

आगरा समाचार
भाषा
Updated May 30, 2020 | 20:03 IST

विश्व प्रसिद्ध ताजमहल को आंधी तूफान की वजह से खासा नुकसान हुआ है। आंधी तूफान से ताजमहल के मुख्य मकबरे की रेलिंग भी टूट गई है।

Thunderstorm in Uttar Pradesh's Agra damages Taj Mahal's marble railing
आगरा मे आंधी तूफान से ताजमहल को नुकसान, मकबरे की रेलिंग टूटी 

मुख्य बातें

  • उत्तर भारत के कई हिस्सों में बारिश के साथ आंधी तूफान चलने से हुआ नुकसान
  • विश्व प्रसिद्ध ताजमहल में आंधी की वजह से संगमरमर की रेलिंग टूटी
  • ताजमहल परिसर के अंदर स्थित कई पेड़ आंधी की भेंट चढ़े

आगरा: आगरा में शुक्रवार देर रात आंधी-तूफान की वजह से विश्वप्रसिद्ध ताजमहल की इमारत को खासा नुकसान पहुंचा और इस दौरान ताजमहल के मुख्य मकबरे की संगमरमर की रेलिंग टूट गयी और उसकी जालियां भीं गिर गईं। अधिकारियों ने शनिवार को यह जानकारी दी। भारतीय पुरातत्व विभाग के अधीक्षण पुरातत्वविद् डॉ.बसंत स्वर्णकार ने बताया, 'आंधी से ताजमहल में संगमरमर की जालियां और लाल पत्थर की जालियां क्षतिग्रस्त हुई हैं। परिसर में पेड़ उखड़ गये हैं वहीं एक दरवाजा भी उखड़ गया है।'

और भी नुकसान

उन्होंने कहा, 'इसके अलावा ताजमहल परिसर में पर्यटकों की सुविधा के लिये बनायी गई शेड की फॉल्स सीलिंग उखड़ गयी है। ताजमहल के अलावा महताब बाग की दीवार पर पेड़ गिर गया है तो वही मरियम के मकबरे में भी पेड़ गिरा है।' बताया जा रहा है कि लॉकडाउन की वजह से ताजमहल पिछले 68 दिन से बंद है।

2018 में भी हुआ था नुकसान

इससे पहले आंधी से ताजमहल में वर्ष 2018 में दो बार स्तंभ और पत्थर गिरे थे। 2018 में 11 अप्रैल और दो मई को आंधी से शाही दरवाजा, दक्षिणी दरवाजा के उत्तर पश्चिम गुलदस्ता स्तंभ टूटकर गिर गये थे।

इस बीच तूफान की वजह से आगरा शहर और देहात में कई जगह बिजली के खंभे और पेड़ उखडऩे के साथ ही मकान गिरने की भी सूचना आई है। इस आंधी में तीन लोगों की मौत की और 25 लोगों के घायल होने की खबर हैं, हालांकि इस संबंध में कोई आधिकारिक पुष्टि नहीं की गई है।

अगली खबर